आखिर इस मां की गोद कैसे हो गई सूनी..

आखिर इस मां की गोद कैसे हो गई सूनी..

By: Mohammed illiyas

Updated: 27 Nov 2019, 12:49 PM IST

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
न जाने किसकी कोख सूनी हुई, उस मासूम को किसने जन्मा था, इस तरह के कई अनसुलझे सवाल छोड़ते हुए एक अनजान युवक डेढ़ वर्षीय मासूम को सडक़ किनारे काम कर ही महिला मजदूर को सुपुर्द कर फरार हो गया। बच्ची के रोने पर महिला ने उसे अपने आंचल में समेट दो दिन तक उसे दुलार किया लेकिन स्वयं के चार बच्चे होने से वह उसे लेकर रेलवे पुलिस के पास पहुंची। पुलिस ने चाइल्ड लाइन की मदद से उसके सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया, जहां से उसे मदर टेरेसा होम में रखवाया गया। पुलिस ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की है।रेलवे स्टेशन के किनारे पिछले कुछ दिनों से चल रहे सडक़ निर्माण में झाबुआ के मजदूर काम कर रहे है। 22 नवम्बर को टेम्पो लेकर आया एक युवक एक रोती बिलखती हुई बच्ची को लेकर मजदूरों के पास पहुंचा व वहां काम कर ही महिला मजदूर से पूछा कि क्या यह बच्ची आपकी है? मना किया तो वह उसे जबरन थमाते हुए कह गया कि यह किसी अन्य मजदूर की होगी, कोई आए तो उसे दे देना। महिला कुछ बोल पाती उससे पहले ही युवक वहां से चला गया। महिला ने रोती बिलखती बच्ची को संभाला। शाम तक किसी के नहीं आने पर वह दो दिन तक अपने ठिकाने पर उसे लेकर बैठी रही। स्वयं के चार बच्चे होने पर उसने ठेकेदार को बच्ची के बारे में जानकारी दी। ठेकेदार उसे रेलवे थाना पुलिस लेकर पहुंचा। पुलिस ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की तथा चाइल्ड लाइन की मदद से बच्ची को सीडब्ल्यूसी की समक्ष पेश किया। अध्यक्ष डॉ.प्रीति जैने ने बच्ची का मेडिकल करवाने के बाद उसे मदर टेरेसा होम में रखवाया। चाइल्ड लाइन समन्वयक विमला चौहान ने बताया कि लगभग डेढ़ वर्षीय इस बालिका ने जामुनी टी-शर्ट, गले मे मोटा पुराना लच्छा और चांदी का मादलिया पहन रखा है। दाहिने हाथ में काले रंग के कड़े, बाएं हाथ में काला डोरा बंधा हुआ है।

Mohammed illiyas Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned