होटल, कारखानों से 12 बाल श्रमिकों को कराया मुक्त

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने बलीचा चौराहे पर चाइल्ड लेबर रेस्क्यू

By: Pankaj

Published: 10 Jan 2021, 12:00 AM IST

उदयपुर. जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने बलीचा चौराहे पर चाइल्ड लेबर रेस्क्यू की बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। शनिवार शाम को यहां 12 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया। सभी बच्चों को शेल्टर होम में प्रवेशित करवाया गया।

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के तत्वावधान में अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में बलीचा चौराहे पर स्थित होटलों, वेल्डिंग कारखानों, मीट की दुकानों, चाय की थडिय़ों से 12 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया। अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश एवं प्राधिकरण सचिव रिद्विमा शर्मा को शिकायत मिली कि बलीचा चौराहे के आसपास कई जगहों पर बालश्रम करवाया जा रहा है। शर्मा ने एक साथ एक क्षेत्र में 9 जगहों पर कार्रवाई करने के लिए विशेष कार्य योजना तैयार की जाकर कार्रवाई की।
मेवाड़ काठियावाड़ी होटल बलीचा व होटल रजवाड़ा से एक-एक, होटल मयूर रेस्टोरेंट से दो, प्लास्टिक ड्रम बैरल से 1, होटल श्रीनाथ काठियावाड़ी से दो, लक्ष्मी मोटर गैरेज से एक, चाय नाश्ता केबिन बलीचा बायपास से 2, वेल्डिंग दुकान ट्रांसपोर्ट नगर बलीचा से एक, जय अम्बे चिकन शॉप से एक बाल श्रमिक को मुक्त कराया।

गठित 9 टीमों में लेबर डिपार्टमेंट से तीन इंसपेक्टर, मानव तस्करी युनिट से एक एएसआई, तीन कांस्टेबल, बाल कल्याण समिति के दो सदस्य, चाईल्ड लाईन के सदस्यों को टीम में शामिल किया गया।

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned