जमीन विवाद पर छोटे भाई ने करवाई बड़े भाई की हत्या

पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाई हत्या की गुत्थी, 4 गिरफ्तार, एक की तलाश जारी, भीण्डर के वरणी गांव में हत्या का मामला

By: Pankaj

Published: 02 May 2021, 03:26 PM IST

उदयपुर/भीण्डर. भीण्डर थानान्र्तगत निकटवर्ती वरणी गांव में 29 अप्रेल रात्रि को खेत पर सो रहे एक वृद्ध की हत्या के मामले में भीण्डर पुलिस ने 24 घंटे में गुत्थी सुलझा दी। जिसमें हत्या का मुख्य आरोपी मृतक का छोटा भाई ही निकला, उसने अपने नौकर से मिलकर चार बदमाशों से हत्या को अंजाम दिलाया। पुलिस ने छोटे भाई सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया हैं एक की तलाश जारी है।
एक वर्ष पहले हुए जमीन विवाद बना हत्या का कारण

भीण्डर थानाधिकारी यशवंत सोलंकी ने बताया कि वरणी गांव निवासी कन्नीराम (60) पुत्र हेमाजी गायरी की 29 अप्रेल की रात्रि में हुई हत्या की जांच में जमीन विवाद सामने आया। एक वर्ष पहले कन्नीराम व उसके छोटे भाई पृथ्वीराज गायरी के बीच बाड़े की जमीन को लेकर विवाद हो गया था। जिस पर दोनों पक्षों की तरफ से भीण्डर पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया गया था और यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। इस जमीन विवाद को लेकर छोटे भाई पृथ्वीराज गायरी ने अपने यहां काम करने वाले नौकर कैलाश रावत पुत्र प्रेमसिंह निवासी मरोदिया के साथ षड्यंत्र रचते हुए कैलाश ने अपने तीन साथी रतनसिंह, सोहन गमेती, एक अन्य साथी के साथ हत्या को अंजाम दिया। चारों आरोपी रात्रि करीब 12-1 बजे के बीच खेत पर पहुंचे, पंलग पर सो रहे कन्नीराम के सिर पर लट्ठ से ताबड़तोड़ हमला किया। जिससे कन्नीराम की मौके पर ही मौत हो गई।
शादी में रची हत्या की साजिश, उसी रात में दे दिया अंजाम

वरणी निवासी कन्नीराम गायरी व उसके छोटे भाई पृथ्वीराज गायरी के बीच बाड़े की जमीन को लेकर विवाद हुआ था। जिसकी रंजिश मन में पाल करके पृथ्वीराज काफी समय से भाई की हत्या करने का प्लान बना रहा था। पृथ्वीराज के घोड़ी हैं जिसको उसका नौकर कैलाश रावत चलाता था। 29 अप्रेल को एक शादी में घोड़ी लेकर कैलाश रावत व पृथ्वीराज गायरी पहुंचे। वहां पर कैलाश रावत के मिलने वाले रतनसिंह, सोहन गमेती व एक अन्य के साथ मिलकर भाई की हत्या करने की साजिश रची। जिस पर पृथ्वीराज गायरी घोड़ी लेकर शादी में ही रूका और कैलाश रावत के साथ अन्य तीनों आरोपी मोटरसाइकिल से वरणी गांव आए और हत्या को अंजाम दिया।
पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए किया खुलासा

भीण्डर पुलिस को 30 अप्रेल सुबह हत्या की जानकारी मिलने के बाद शाम 5 बजे तक शव का पोस्टमार्टम करवा करके परिजनों को सौंपने के बाद जांच शुरू की। जिसमें एक वर्ष पहले भाई के साथ जमीन विवाद सामने आने पर उसको दृष्टिगत रखते हुए अगले 6 घंटे में हत्या के आरोपियों को डिटेन कर दिया। जिनसे प्रारम्भिक पूछताछ में हत्या करना कबूल करने पर भीण्डर पुलिस ने मृतक के छोटे भाई वरणी निवासी पृथ्वीराज पुत्र हेमाजी गायरी, नौकर मरोदिया जिला-चित्तौडग़ढ़, निवासी कैलाश रावत पुत्र प्रेम सिंह, केवलपुरा निवासी रतन सिंह पुत्र भूर सिंह मीणा, मरोदिया निवासी सोहन पुत्र घासी गमेती को गिरफ्तार किया। हत्या के खुलासे में पुलिस टीम में हेड कॉस्टेबल ओंकारसिंह, कॉस्टेबल सुनिल विश्नोई, सुनील जाट, राजेश यादव, अनिल जाट, सचिन, दशरथ, दीपेश, रिंकु कुमार, मानसिंह आदि थे।

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned