गाय दूध कम दे रही थी, टोटका करने में ले ली ऊंट की बलि

ऊंट की गर्दन काटने के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार

By: Pankaj

Published: 10 Jun 2021, 11:37 AM IST

उदयपुर. सूरजपोल थाना क्षेत्र में पुलिस लाइन के पास मिले ऊंट के धड़ के मामले में चौकाने वाली बात सामने आई है। चार लोगों ने अंधविश्वास के चलते ऊंट की बलि ले ली थी। ऊंट की गर्दन काटकर जमीन में गाढऩे के चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
थानाधिकारी हनवन्त सिंह ने बताया कि घटना में लिप्त आरोपी सेंट्रल जेल के पीछे सौ फीट रोड टेकरी निवासी शोभालाल पुत्र मेंदु लाल, चन्द्र प्रकाश उर्फ चेतन पुत्र शोभालाल, बलीचा निवासी राजेश उर्फ राजू पुत्र लालूराम, ऋषभनगर सवीनाखेड़ा निवासी रघुनाथ उर्फ रघुवीर सिंह पुत्र प्रेमसिंह देवड़ा को गिरफ्तार किया। आरोपियों की निशानदेही पर राजेश के घर के बाहर जमीन में गढ़ी ऊंट की गर्दन बरामद की। आरोपियों का पता लगाने में हेड कांस्टेबल तेजसिंह, कांस्टेबल राकेश, प्रमोद, प्रवीण, जगदीश, विजयलक्ष्मी, गजराज सिंह, लोकेश रायकवाल की भूमिका रही।

यह था मामला
अस्थल मन्दिर के पास निवासी करण पुत्र पवन कुमार ने 24 मई को रिपोर्ट दी थी कि वह ऑटो से टेकरी की तरफ पानी सप्लाई के लिए गया था। टेकरी के पास पुलिस क्वार्टर के पीछे खाली प्लॉट में मृत ऊंट देखा, जिसकी गर्दन कटी हुई थी। इस पर सूरजपोल थाना पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की।
ऐसे चला अंधविश्वास का खेल

राजेश बलीचा में दूध डेयरी चलाता है। कुछ समय से उसकी गाय दूध कम दे रही थी। गाय के थन बन्द हो जाने और घर में परेशानियां आने से राजेश ने जादू टोना करने वाले भोपा शोभा लाल माली से सम्पर्क किया। शोभा लाल ने ऊंट की बलि देने की बात कही। पुलिस लाइन के पास एक ऊंट लावारिस मिलने पर बलि चढ़ाने की तैयारी कर ली। राजेश ने साथी रघुनाथ और भोपा शोभा लाल व पुत्र चन्द्रपकाश को साथ लेकर ऊंट की तलाश की। दो दिन तक ऊंट को घुमाया और चारा खिलाते रहे। मौका मिलने पर 23 मई रात 11 बजे पुलिस क्वाटर्स टेकरी के पीछे खाली भूखण्ड में तलवार और कुल्हाड़ी से ऊंट की गर्दन काट दी। गर्दन भोपा के खेत पर ले गए, जहां टोना टोटका किया। दो दिन बाद गर्दन को राजेश के बलीचा स्थित मकान के बाहर खड्डा खोदकर दबा दी।

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned