दूसरे दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम, आक्रोश जारी

बेदला स्थित वाटिका में युवक का शव मिलने का मामला, परिजन पहुंचे कलक्ट्रेट, मुआवजे को लेकर वार्ता विफल

By: Pankaj

Published: 21 Aug 2021, 09:24 AM IST

उदयपुर. सुखेर थाना क्षेत्र के बेदला स्थित एक वाटिका में काम करने वाले युवक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत के बाद दूसरे दिन शुक्रवार को भी पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। शव मुुर्दाघर में पड़ा है, वहीं परिजन दूसरे दिन भी कलक्ट्रेट पहुंचे और हत्या की आशंका जताते हुए प्रदर्शन किया। परिजन मुआवजे की मांग पर अड़े रहे, लेकिन दोनों पक्षों के बीच सहमति नहीं बन पाई।

देवड़ों का खेड़ा गोगुन्दा निवासी महेन्द्र सिंह (29) पुत्र दलपतसिंह की मौत के बाद पुलिस ने शुक्रवार को भी परिजनों से पोस्टमार्टम कराने को लेकर समझाइश की। परिजन मुआवजे की मांग पर अड़े रहे और पोस्टमार्टम के लिए राजी नहीं हुए। दोनों पक्षों के बीच बातचीत हुई, लेकिन सहमति नहीं बन पाई। शुक्रवार को कलक्ट्रेट पर ज्ञापन देते समय देवड़ा नोबल्स सोसाइटी के केंद्रीय अध्यक्ष फतहसिंह, मेवाड़ क्षत्रिय महासभा जिलाध्यक्ष चंद्रवीर सिंह करेलिया, जीवन सिंह सेनवाड़ा, देबारी उपसरपंच सीएस देवड़ा, निर्भय सिंह, सुमेर सिंह, हरिसिंह, धनसिंह, गोपाल सिंह मौजूद थे।
बेदला-लखावली मार्ग स्थित भंवर वाटिका में पिछले दिनों काम पर लगे युवक महेंद्रसिंह का शव गुरुवार को संदिग्ध परिस्थिति में पड़ा मिला था। वाटिका संचालक कानसिंह ने परिजन और पुलिस को सूचना दी थी। उस दरमियान ही परिजन आक्रोशित हो गए और हत्या का आरोप लगाने लगे। समझाइश के बाद शव मुर्दाघर में रखवा दिया था, लेकिन परिजन पोस्टमार्टम को तैयार नहीं हुए।

उचित कार्रवाई नहीं करने की बात कहते हुए क्षत्रिय समाज की ओर से शनिवार को सुखेर थाने के बाहर प्रदर्शन करने की बात कही गई है। लोगों ने आरोप लगाया है कि वाटिका स्थित रेस्टोरेंट में अनैतिक गतिविधियों के कारण युवक की मौत हुई है। ठोस पुलिस कार्रवाई की मांग करते हुए प्रदर्शन किया जाएगा।

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned