दो हाइवे पर 18 ब्लैक स्पॉट, जहां हर पल मंडराती है मौत

उदयपुर-पिंडवाड़ा मार्ग पर 6 और उदयपुर-गोमती हाइवे पर 12 ब्लैक स्पॉट, ब्लैक स्पॉट मिटाने के लिए 210 करोड़ के प्रस्ताव अभी प्रक्रिया में

By: Pankaj

Published: 19 Sep 2021, 12:13 PM IST

उदयपुर. शहर से नाथद्वारा मार्ग पर अमरख महादेव मंदिर के पास एक दिन पहले ही हुए हादसे में तीन लोगों की जान गई। यह महज एक हादसा नहीं, बल्कि जिंदगी के प्रति लापरवाही का नतीजा है। यहां हाइवे निर्माण में रही खामी से आए दिन हादसे होते हैं। बीते चार साल की स्थिति पर नजर डालें तो इसी जगह 35 हादसों में 36 लोगों की मौत हो चुकी है।
यह तो महज एक उदाहरण है, जबकि उदयपुर से जुडऩे वाले दो प्रमुख हाइवे पिंडवाड़ा रोड और गोमती हाइवे पर 18 जगह ब्लैक स्पॉट है, जहां पल-पल मौत मंडराती है। इसमें से उदयपुर-पिंडवाड़ा मार्ग पर 6 और उदयपुर-गोमती हाइवे पर 12 ब्लैक स्पॉट है। ब्लैक स्पॉट मिटाने के लिए नेशनल हाइवे अथॉरिटी की ओर से सुधार कार्य किया जाना है, लेकिन फिलहाल प्रस्ताव प्रक्रिया में है। अथॉरिटी ने 210 करोड़ के प्रस्ताव मुख्यालय को भेज रखे हैं, लेकिन अभी राहत का इंतजार है।

जिले में स्थिति

33 : डार्क जोन, जहां अक्सर होते हादसे
05 : डार्कजोन, सर्वाधिक खतरनाक

207 : हादसे हुए चार साल में 5 पॉइंट पर
135 : लोगों की मौत चार साल में 5 पॉइंट पर

जिले में पांच प्रमुख डार्क जोन

- सुखेर में अमरख महादेव मंदिर के पास, जहां चार साल में 35 हादसों में 36 लोगों की मौत हुई
- गोवर्धनविलास क्षेत्र में बलीचा बाइपास, जहां चार साल में 49 हादसों में 29 लोगों की मौत हुई

- ऋषभदेव के कागदर लापामोड़ अमराघाटी व धागा मील, जहां चार साल में 85 हादसों में 59 लोगों की मौत हुई।
- बेकरिया का देवला कट, जहां चार साल में 34 हादसों में 18 लोगों की मौत हो चुकी है।

- बेकरिया का पिलका कट, जहां चार साल में 36 हादसों में 20 लोगों की मौत हो चुकी है।
इनका कहना
बलीचा तिराहा और चिरवा घाटे में अमरख महादेव मंदिर के यहां अक्सर हादसे होते हैं, इनमें मैकेनिकल प्रॉब्लम है। यहां सुधार का काम सिर्फ पुलिस का नहीं है, बल्कि अन्य भी विभागों की जिम्मेदारी है। इसके लिए हम पहले नेशल हाइवे अथॉरिटी को लिख चुके हैं। अन्य संबंधित विभागों को भी लिखा है। दुबारा पत्राचार करेंगे।

डॉ. राजीव पचार, जिला पुलिस अधीक्षक
उदयपुर-गोमती हाइवे पर 12 जगह ब्लैक स्पॉट चिह्नित किए गए हैं। इसी तरह से उदयपुर-पिंडवाड़ा हाइवे पर 6 ब्लैक स्पॉट हैं। इसके लिए ऑडिटर से सर्वे हो चुका है, वहीं सुधार कार्य के प्रस्ताव मुख्यालय को भेजे जा चुके हैं। इस पर जल्द काम होगा। तात्कालीक समाधान का प्रयास कर रहे हैं। एसयूटीपीएल कंपनी से काम करा रहे हैं।
लोकेश सिंह राजपुरोहित, प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआई

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned