तलाक के बगैर दूसरा विवाह, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

एसपी को परिवाद पेश

तलाक के बगैर दूसरा विवाह, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

उदयपुर. पत्नी को तलाक दिए बगैर दूसरा विवाह करने पर महिला थाने में दर्ज प्रकरण में अब तक कार्रवाई नहीं होने पर पीडि़ता ने पति के विदेश भागने की आशंका में एसपी को परिवाद पेश कर कार्रवाई की मांग की।
पीडि़ता ने बताया कि उसका विवाह 28 अगस्त, 2011 को देवेन्द्र कुमार कलाल के साथ हुआ। विवाह के कुछ समय बाद ही पति ने दूरिया बना ली। आपत्ति की तो पति ने मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताडि़त करने लगा। उसके बाद विधिवत तलाक लिए बगैर ही उसने सिरोही में दूसरा विवाह रचा लिया। इस संबंध में महिला थाने में सितम्बर में मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने आरोपी पति के दूसरे विवाह तथा उसके पुत्र के संबंध में सिरोही सरकारी अस्पताल से रिकार्ड संकलन किया, लेकिन अब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई।

कार की पूरी कीमत देने के आदेश

उदयपुर. बीमा अवधि में कार दुर्घटना होने पर स्थाई लोक अदालत ने बीमा कंपनी की सेवा को दोष कारित कर उन्हें कार की पूरी कीमत ब्याज सहित देने के आदेश दिए। माधवनगर सौभागपुरा स्थित भगवान स्टोन केसर जरिए पार्टनर सुंदरलाल पुत्र रमेश कुमावत ने दी न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड जरिये शाखा प्रबंधक इलाहाबाद बैंक के खिलाफ परिवाद पेश किया। इसमें बताया कि उसने अपनी फर्म के कार्य के लिए भागीदार सुंदरलाल कुमावत के नाम पर एचडीएफसी बैंक से फाइनेंस करवा कर एक कार क्रय की। कार का 14 जनवरी 2016 से एक वर्ष की अवधि के लिए बीमा करवाया। 12 जून 2016 को नेशनल हाइवे-8 सविना पुलिया के पास कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जिसकी सूचना बीमा कंपनी एवं पुलिस थाना हिरणमगरी थाने में दी। बीमा कंपनी के सर्वेयर ने वाहन का सर्वे कर टोटल लोस मानते हुए निर्धारित प्रपत्र में फार्म भरवाया लेकिन बीमा कंपनी ने क्लेम राशि का भुगतान नहीं किया। जबकि बैंक में लगातार किश्तें जमा करवाई। स्थाई लोक अदालत के अध्यक्ष के.बी.कट्टा, सदस्य सुशील कोठारी व बृजेन्द्र सेठ ने न्यायालय ने सुनवाई के बाद बीमा कंपनी को आदेश दिया कि वह दो माह में परिवादी को वाहन की पूरी कीमत 6.64 लाख ब्याज सहित दें तथा मानसिक व शारीरिक क्षतिपूर्ति के 15 हजार रुपए अलग से अदा करें।

Mohammed illiyas Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned