सरकारी 3412 कार्मिकों के 13 हजार सदस्य उठा रहे थे गरीब का गेंहू, अब एफआईआर होगी

बाकियात जमा कराने का 15 जनवरी तक की मोहलत, नहीं तो कार्रवाई

By: Mukesh Hingar

Published: 06 Jan 2021, 11:36 AM IST

उदयपुर. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत गरीबों का गेहूं खाने वाले सरकारी कर्मचारियों को बक्शा नहीं जाएगा। जिन कर्मचारियों ने इसकी कीमत जमा नहीं करवाई, उनके खिलाफ एफआईआर की जाएगी। विभाग ने ऐसे कर्मचारियों को 15 जनवरी तक की मोहलत दी है।
जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी ने बताया कि जिले में 3412 सरकारी कर्मचारियों के परिवार के 13 हजार 683 सदस्य लम्बे समय तक जरूरतमंदों के हिस्से का खाद्य सुरक्षा योजना में गेहूं का उठाव कर रहे थे। उनके खिलाफ नियमानुसार 15 जनवरी तक वसूली किए जाने के निर्देश दिए है।

27 रुपये प्रतिकिलो के दर से होगी वसूली
ककवानी ने बताया कि ऐसे सरकारी कर्मचारियों से प्राप्त किये गये गेहूं के विरूद्ध भारतीय खाद्य निगम की ईकोनोमिक लागत एवं विभागीय खर्चों के आधार पर राशि 27 रुपये प्रति किलों की दर से वसूली की जाएगी। उन्होंने बताया कि यदि किसी सरकारी कर्मचारी के घर में छह सदस्य हैं, उसने प्रति व्यक्ति पांच किलो के हिसाब से 30 किलो गेहूं डीलर से हर महीने उठाया है तो उस कर्मचारी को 30 किलो गेहूं के एवज में 810 रूपये प्रतिमाह की दर से जमा करवाने होंगे।

15 के बाद एफआईआर
उन्होंने बताया कि जिन सरकारी कर्मचारियों ने अब तक यह राशि राजकोष में जमा नहीं कराई है, वे 15 जनवरी तक तक यह राशि जमा करवा सकते हैं। इस अवधि के बाद राशि जमा नहीं करवाने वाले अधिकारी-कार्मिक के विरूद्ध विधिक (एफआईआर) तथा विभागीय कार्यवाही का प्रस्ताव तैयार किया जाएगा।

ब्लॉक... कार्मिक ... परिवार सदस्य

गिर्वा... 422... 1688
गोगुन्दा... 139... 556
वल्लभनगर... 240... 960
सलुम्बर... 120... 480
लसाडिय़ा... 160... 640
झाड़ोल... 228... 912
मावली... 210... 827
खेरवाड़ा... 1035... 4140
सराड़ा... 486... 1944
कोटड़ा... 48... 240
बडग़ांव... 281... 1124
ऋषभदेव... 43... 172
कुल... 3412... 13683

Mukesh Hingar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned