उदयपुर का यह तालाब जल्द दिखेगा फतहसागर जैसा, पत्रिका से बातचीत में बताई ये विशेष बातें

उदयपुर का यह तालाब जल्द दिखेगा फतहसागर जैसा, पत्रिका से बातचीत में बताई ये विशेष बातें

Mukesh Hingar | Updated: 19 Nov 2017, 12:43:40 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर. श्रीमाली ने कहा वर्ष 2018 में दक्षिण विस्तार में आने वाले इस तालाब को फतहसागर जैसा पर्यटन स्थल बना देंगे.

 

उदयपुर . नगर विकास न्यास के चेयरमैन रवीन्द्र श्रीमाली को पद संभाले एक साल पूरा हुआ है। इसे लेकर पत्रिका से बातचीत के दौरान श्रीमाली ने कहा कि एक वर्ष का समय विभिन्न कार्यों के लिए कम है, हालांकि कई ऐसे प्रोजेक्ट हैं, जो जल्द साकार रुप में नजर आएंगे। एक साल पहले 19 नवंबर को श्रीमाली ने चेयरमैन की कुर्सी संभाली थी। श्रीमाली ने कहा वर्ष 2018 में दक्षिण विस्तार में आने वाले जोगी तालाब को फतहसागर जैसा पर्यटन स्थल बना देंगे और उस क्षेत्र का विकास भी तालाब की बेहतरी के साथ ही बढ़ जाएगा।

 

एक साल के कामकाज को लेकर श्रीमाली ने कहा कि करीब 25 बीघा क्षेत्र में जोगी तालाब विकसित किया जाएगा, ले-आउट प्लान बना दिया है, वहां पौधे लगाने के साथ ही एक पिकनिक स्पॉट बनाया जाएगा, ऐसा प्रयास होगा दक्षिण विस्तार में रहने वाले लोगों के लिए जोगी तालाब ही उनका फतह सागर हो ऐसा स्वरूप देंगे और कोशिश करेंगे अगले वर्ष इस काम को पूरा कर देंगे। उन्होंने कहा कि एक साल का समय बहुत छोटा है, कई योजनाएं बनाई जो अभी प्रक्रिया में है, लेकिन जो योजनाएं पहले से चल रही थी उनकी गति तेज करवा कर उसे जनता को समर्पित की।

 

श्रीमाली कहते है कि विकास के साथ-साथ अवैध निर्माण और अतिक्रमण की शिकायतों का निस्तारण भी तेजी से किया और बिना किसी भेदभाव के कब्जे हटाए, कितने ही दबाव आए नहीं झुके और इसी का परिणाम है कि यूआईटी की सख्ती का डर लोगों में है। श्रीमाली कहते है कि डर का मतलब यह नहीं कि लोगों को हम नाराज करना चाहते है, हमारी सख्ती शहर को सुंदर एवं स्मार्ट बनाए रखने के लिए है, ऐसा नहीं करेंगे तो शहर की बदसूरती हमारे नाम को खराब करेगी। श्रीमाली ने कहा कि शहरी विकास में पूरी टीम और जनता के सहयोग से ही तेजी से काम कर रहे है, वे कहते है कि गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के मार्गदर्शन और यूआईटी सचिव रामनिवास मेहता की दिन-रात की मेहनत को नकारा नहीं जा सकता है।

 

READ MORE: सोशल मीडिया पर यूं हो रहा फिल्म पद्मावती का विरोध, प्रोफाइल में जौहर करती रानी पद्मिनी तो बलिदानी गौरव गाथा बनी कॉलर ट्यून


श्रीमाली के अनुसार नगर निगम साफ-सफाई कराती है लेकिन यूआईटी क्षेत्र में ऐसा नहीं होता था। हमने पहली बार यूआईटी क्षेत्र में डोर-टू-डोर सफाई का काम शुरू करवाया। आज हर क्षेत्र में सुबह हमारी गाड़ी जाती है जो कचरा उठाती है यह बहुत बड़ा काम स्वच्छता अभियान में हमारा है।

 

READ MORE: नरेन्द्र मोदी को लिखा खत, किया प्रदर्शन और B. N. College के विद्यार्थियों ने दे दी उग्र आंदोलन करने की चेतावनी, आखिर क्या हुआ ऐसा, पढ़ें पूरी खबर

 

- वादा : अल्प आय वर्ग के लोगों के लिए आशियाने का सपना पूरा करना।
- हकीकत : पीएम आवास योजना के लिए आवेदन जांच की अंतिम प्रक्रिया पूरी कर दी, मुख्यमंत्री आवास योजना का भी काम चल रहा है। नए आवेदन करने वालों को मकान मिलना बाकी है।
- वादा : यूआईटी कॉलोनियों में साफ-सफाई का कार्य पूरा करना।
- हकीकत : डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण शुरू किया, कचरा निस्तारण को लेकर अभी काम नहीं हुआ।
- वादा : यूआईटी क्षेत्र में हरियाली के लिए प्रयास।
- हकीकत : रामगिरी पहाड़ी पर पौधरोपण, यूआईटी क्षेत्र में पौधरोपण किया। चित्रकूटनगर की पहाडिय़ों पर काम बाकी।
- वादा : पहाडिय़ों के संरक्षण पर कार्य
- हकीकत : पहाडिय़ों पर कब्जे रोके लेकिन बड़ी से लेकर कई क्षेत्र में पहाडिय़ों पर अन्य गतिविधियां चल रही हैं। पहाडिय़ों को लेकर कानून लागू आगे नहीं बढ़ सका।
- वादा : दक्षिण विस्तार योजना का विकास
- हकीकत : जोगी तालाब की योजना बनाई, कब्जे हटाए लेकिन अभी समुचित विकास पर बड़े काम करना बाकी।

 

चेयरमैन के दावे
यह काम पूरे करवा दिए : द्य यूआईटी पुलिया शुरू द्य मादड़ी अंडरपास शुरू
- फीश एक्वेरियम शुरू द्य दुर्गानर्सरी रोड चौड़ा किया द्य देहलीगेट
बोटलनेक हटाया द्य सज्जनगढ़ की टूटी सडक़ बनाई
ये प्रोजेक्ट पाइप लाइन में : आयड़ का विकास, प्रतापनगर-बलीचा बाइपास चौड़ा करना, एकलिंगपुरा अंडरपास निर्माण, मेगा आवास योजना के मकान, थूर की पाल का विकास, नांदेश्वर का विकास, चंगेड़ी (डबोक) पुलिया का कार्य, देवाली छोर पर पार्किंग निर्माण, देवाली पर रोप-वे प्रोजेक्ट , दुर्गानर्सरी से रोडवेज बस स्टैंड सडक़ , सेक्टर छह से गुप्तेश्वरनगर सडक़ , खेलगांव व बर्ड पार्क के लिए धन दिया।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned