उदयपुर . जिला प्रशासन, नगर निगम, नगर विकास प्रन्यास एवं पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में लेक फेस्टिवल के समापन अवसर पर रविवार शाम ढलने के साथ ही फतहसागर किनारे सहरिया व कच्छी घोड़ी लोक कलाकारों ने विविध सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से आमजन का मनोरंजन किया। इधर, मुंबइया बाजार से पाल तक रावण और बंदर का स्वांग धरे बहुरूपिया कलाकारों ने समा बांध दिया। रविवार की छुट्टी के कारण झील किनारे उमड़े लोगों ने इनके साथ भ्रमण करते मोबाइल से खूब फोटो-सेल्फी ली। इसके अलावा फतहसागर में डबल डेकर बोट पर बैंड की सुरलहरियां भी हर किसी के आकर्षण का केंद्र बनीं।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned