दूसरे दिन भी मंडियों में रही हड़ताल.... लोगों को हुई काफी परेशानी

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Krishna

Published: 02 Sep 2018, 06:28 PM IST

चन्दन सिंह देवड़ा/उदयपुर.राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ के आह्वान पर प्रदेशभर की कृषि उपज मंडियों मे हड़ताल चल रही है। आज हड़ताल का दूसरा दिन है। संघ ने अलग-अलग कमेटियों के जरिये बन्द की निगरानी किए जाने के निर्देश दे रखे है लेकिन उदयपुर कृषि उपज मंडी में रविवार को कुछ होलसेल व्यापारी बंद के बावजूद भी दुकाने खोल कर बैठे नजर आए। मंडी में हडताल के चलते किराणा व्यापारियों ने जरूर रविवार को दुकाने खोली ताकि लोगों को ज्यादा परेशानी नही हो। कारोबार बंद होने से लोडिंग अनलोडिंग नहीे हो सका ऐसे मे हम्माली करने वाले मजदूरों के पास काम नही है। मंडी समिति अध्यक्ष संदीप कुमार ने बताया कि हड़ताल के चलते 32 सूत्रीय ज्ञापन सरकार को दिया जा चूका है लेकिन उस पर अभी तक सहमति नही बनी है। 5 सितम्बर तक मंडियां बंद रहेगी ऐसे में करोडो का कारोबार प्रभावित हो रहा है वहीं राज्यसरकार के राजस्व खजाने पर भी नुकसान का असर पडेगा। मंडी कारेाबारियों की प्रमुख मांगो की बात करें तो समर्थन मूल्‍य पर खरीद की जाने वाली कृषि जींस जिसमें बाजरा, गेहूं, चावल, कपास पर आढ़त देने की मंाग की जा रही है। वहीं आढ़त 2 से 2.5 प्रतिशत करने की मांग उठाई जा रही है। व्यापारी चाहते है कि आॅनलाइन बोली की व्‍यवस्‍था समाप्‍त कर मैनुअल रखी जाए। सरकार द्धारा कृषि मंडी मंें मांगे जा रहे अर्बन डवलपमेंट टैक्‍स को खत्‍म करने की मांग उठाई गई है। व्यापारी चाहते है कि चीनी पर मंडी टैक्‍स 0.5 प्रतिशत ही हो। बची हुई 2 हजार दुकानों का भी मालिकाना हक दिया जाए क्योंकि अब तक 8 हजार दुकानों का ही मालिकाना हक दिया गया है। इसके अलावा प्रमुख मंागों में टैक्‍स को एक के बजाय तीन महीने में र‍िटर्न भरने का नियम बनाया जाए

 

READ MORE : video : पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल बोले पीएम नारा बदल लें ...ना बताऊंगा, न बताने दूूंगा

 

Krishna Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned