न तो बराबर के अफसर आए, जो आए वे आंकड़े पेश कर गए, जीरो बट्टा जीरो रही बैठक : कटारिया

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में कटारिया ने खड़े किए सवाल

By: Mukesh Kumar Hinger

Updated: 29 Dec 2020, 12:14 PM IST

उदयपुर. जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सोमवार को जिला परिषद सभागार में हुई। बैठक में जनप्रतिनिधि सुनते गए लेकिन बीच में शहर विधायक व विस में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने सवाल खड़े किए कि बैठक को लेकर जिन अधिकारियों को आना चाहिए वे नहीं है, आंकड़े पेश करने से क्या होगा, यह बैठक के एजेंडे के साथ देते तो अध्ययन करके आते और कुछ बात कर पाते।
बैठक को लेकर कटारिया ने जवाब देने वाले अफसरों से कहा कि वे तैयारी तक करके नहीं आए है। बैठक के बाद पत्रिका से बातचीत में कटारिया ने कहा कि बैठक किन विषय पर होगी, कुछ अंकित नहीं था सिर्फ विभागों के नाम लिख दिए, उन्होंने कहा कि एक साल पहले 2019 में जो मीटिंग हुई उसकी रिपोर्ट तक नहीं रखी गई। वे बोले कि बैठक में न तो बराबर के अधिकारी आए, पुराने काम को लेकर कोई रिपोर्ट नहीं थी, कोविड को लेकर आंकड़ों की लम्बी-चौड़ी आंकड़ों की रिपोर्ट सामने रखी, अगर वह जनप्रतिनिधियों को सप्ताह भर पहले देते तो तैयारी करके आते, कुल मिलाकर बैठक करानी है, यह औपचारिकता पूरी की है बाकी बैठक जीरो बट्टा जीरो रही।

स्मार्ट सिटी व अमृत योजना में गुणवत्ता का ख्याल रहे
कटारिया ने कहा कि स्मार्ट सिटी एवं अमृत योजना के तहत चल रहे कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए शीघ्र पूरा कर शहरवासियों का राहत प्रदान करने को कहा। उन्होंने सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी को विधायक मद द्वारा दी गई राशि के उपयोग की रिपोर्ट एवं कोरोना प्रबंधन के लिए किए गये कार्यों की रिपोर्ट मांगी। बैठक में जिला परिषद सीईओ डा. मंजू ने नरेगा योजना के कार्यों एवं किए गए नवाचारों के साथ ग्रामीण विकास एवं पंचायतीरात विभाग की योजनाओं व कार्यक्रमों की प्रगति पर प्रजेन्टेशन दिया। बैठक में सांसद, विधायक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned