अगर सफाई, सीवरेज या मृत पशु से संबंधित परेशानी है तो यहां करें कॉल, बहुत काम के हैं ये नंबर..

अगर सफाई, सीवरेज या मृत पशु से संबंधित परेशानी है तो यहां करें कॉल, बहुत काम के हैं ये नंबर..

Mukesh Hingar | Publish: Jan, 11 2018 01:32:45 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

नगर निगम ने जारी की वार्ड वाइज नंबरों की सूची

उदयपुर . स्वच्छता सर्वेक्षण से पहले नगर निगम ने शहर के 55 ही वार्डों में साफ-सफाई, सीवरेज लाइन की सफाई, मृत पशु उठाने एवं डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण के लिए वार्ड वार मोबाइल नंबर जारी किए हैं। नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग ने बताया कि आमजन इन नंबरों पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

वार्ड नं. संबंधित मोबाइल नंबर
- वार्ड- 45, 46, 47, 48, 49, 50 - 9829961148, 9587862248
- वार्ड -12, 13, 42, 50, 43, 44 - 9460114257
- वार्ड - 5, 9, 10, 11 - 8890875221
- वार्ड - 2, 6, 7, 8 - 9460729688
- वार्ड - 1, 3, 4, 52, 53, 54, 55 - 9461207786 व 8949659969
- वार्ड - 35, 36, 37, 38, 51 - 9460401731 व 8619774406
- वार्ड - 31, 32, 33, 34, 39 - 9460572722 व 9983372203
- वार्ड - 14, 15, 16, 40, 21 - 9602192797
- वार्ड - 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29, 30 - 8949345917
- वार्ड- 17, 18, 19, 20, 39, 23, 41 एवं गुलाबबाग -9460302295


सीवरेज लाइन का रखरखाव - 9783210911 व 8233210911

मृत पशु ठेकेदार- 9001274675, 8290302270 व 7023742503

 

 

READ MORE : उदयपुर में बैंक से लूट के दो आरोपितों को सात वर्ष की कैद, ढाई साल पहले पुला शाखा पर एयरगन दिखाकर ले भागे थे 7.51 लाख

 

आनंद भवन पर कटारिया कब चुप्पी तोड़ेंगे, कांग्रेस नेता श्रीमाली ने पत्र में उठाया सवाल
उदयपुर . शहर विधायक एवं गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के खिलाफ विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी रहे कांग्रेस के दिनेश श्रीमाली ने उन्हें पत्र में राज्य सरकार द्वारा आनंद भवन को बेचने की तैयारी के मुद्दे पर चुप्पी तोडऩे को कहा है। पत्र में सवाल उठाया कि आपके निर्वाचन क्षेत्र के इतने बड़े मुद्दे पर आप चुप
क्यों है? श्रीमाली ने कटारिया को लिखे पत्र को बुधवार को मीडिया में जारी करते हुए पूछा कि सरकार शहर की बेशकीमती सरकारी सम्पत्ति आनन्द भवन को निजी हाथों में सौंपने जा रही है, यह विषय सामान्य नहीं है। आपकी सरकार एक के बाद एक सरकारी सम्पत्तियां निजी हाथों में दे रही है और आप मौन साधे हुए हैं। श्रीमाली ने पत्र में कहा कि इससे पूर्व भी भाजपा सरकार ने हिंदुस्तान जिंक तथा लक्ष्मीविलास होटल जैसे लाभप्रद सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को औने-पौने दामों में निजी हाथों को सौंपा था।
थोड़ा तेजाब भ्रष्टाचार की जड़ों में भी डालो
पत्र में कहा कि राजनीति में वर्षों से आप कांग्रेस की जड़ों में तेजाब डालने की बात कह रहे हैं। आज सवाल यह है कि आनन्द भवन को बेचने में भ्रष्टाचार की बू आ रही है, ऐसे में थोड़ा तेजाब बचाकर इस भ्रष्टाचार की जड़ों में भी डाल दो ताकि आनंद भवन बच सके।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned