कांग्रेस : भाजपा के बोर्ड से नाराजगी होने पर कम रहा मतदान, भाजपा : बोर्ड फिर हमारा ही बनेगा

नगर निगम चुनाव 2019

 

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. मतदान खत्म होते ही भाजपा-कांग्रेस ने अपने-अपने जीत के दावे भी कर दिए हैं। वर्ष 2014 के नगर निगम के चुनाव में 64 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि इस बार यह आंकड़ा घटकर 57.77 प्रतिशत ही रहा। वैसे यह माना जाता है कि मतदान घटने की स्थिति में भाजपा को नुकसान व कांग्रेस को फायदा होता है, लेकिन भाजपा के बड़े नेताओं का मानना है कि पिछले निगम चुनाव से मात्र 4-6 प्रतिशत वोट ही घटे, यह बड़ी बात नहीं है। दूसरी तरफ कांग्रेस का कहना है कि जनता भाजपा के बोर्ड से नाराज है। यह मतदान के प्रतिशत से साफ हो गया है। शाम बाद नेताओं ने मतदान के आंकड़ों पर मंथन किया, और आगे महापौर के चुनाव को लेकर भी कसरत शुरू की।

जीत का अंतर कम होगा : कटारिया
वोट का प्रतिशत ज्यादा नहीं घटा है। हमारा बोर्ड ही बनेगा, हम 48 से 52 वार्ड जीतेंगे। मतदान कम का एक मात्र कारण वार्ड परिसीमन के बाद मतदाता तक पर्ची नहीं बंटना रहा है, मतदाता भटकते रहे, नए परिसीमन की जानकारी नहीं होना भी बड़ा कारण है। जहां पर्ची अच्छे से बांटी वहां वोट भी अच्छे पड़े है। मतदान कम होने से यह संभावना है कि प्रत्याशियों के जीत का अंतर जरूर घटेगा।
- गुलाबचंद कटारिया, विसं नेता प्रतिपक्ष

भाजपा के बोर्ड का गुस्सा जनता ने बताया : गिरिजा
मतदान प्रतिशत कम हुआ है, इसका साफ मतलब है कि भाजपा के बोर्ड से शहर की जनता खफा हैं। लोगों में गुस्सा है। मैने स्वयं ने करीब 200 बूथ टटोले हैं, सब जगह आक्रोश दिखा। जो माहौल मतदान में दिखा वह कांग्रेस के हित में है, कांग्रेस उदयपुर में बोर्ड बना रही है, मतदान का प्रतिशत भी यही दर्शाता है। भाजपा का राजनीतिक धरातल खिसकने लगा है।
- डॉ. गिरिजा व्यास, पूर्व केन्द्रीय मंत्री

भाजपा के हथकंडे काम नहीं आएंगे : रघुवीर
पिछले निगम चुनाव से करीब छह प्रतिशत मतदान हुआ है। यह नाराजगी भाजपा बोर्ड से है। नाराजगी व परेशानियों से ही मतदाता ने वोट नहीं किया, इसके लिए भाजपा का बोर्ड जिम्मेदार है। जीत को लेकर भाजपा ने सारे हथकंडे अपनाए, वोट से एक दिन पहले भाजपा नेता कटारिया ने आचार सहिता का उल्लघंन किया, टेकरी में मतदाताओं को प्रलोभन दिया तो अशोकनगर में भाजपा प्रत्याशी टांक ने बूथ में बैठकर मतदाताओं को प्रभावित किया। हम बोर्ड बना रहे हैं, अब उदयपुर का विकास कांग्रेस करेगी।
- रघुवीर सिंह मीणा, सीडब्ल्यूसी मेंबर (कांग्रेस

हम 50 वार्ड जीत रहे : श्रीमाली
प्रतिशत कम होने से हमारी जीत पर कोई असर नहीं पड़ेगा, फर्क इतना हो सकता है कि जीत का अंतर थोड़ा कम हो सकता है। यह तय है कि बोर्ड भाजपा का बनेगा और कम से कम 50 वार्ड में हमारी जीत होगी। अब हम बैठक कर अगली रणनीति तय करेंगे।
- रवीन्द्र श्रीमाली, अध्यक्ष शहर भाजपा

वोट नहीं दे पाने का दु:ख
मेरा स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से मैं नाथद्वारा आकर वोट नहीं दे पाया। शहर की जनता ने शांतिपूर्ण मतदान किया। इसके लिए मैं सबका आभारी हूं। मुझे यह दु:ख भी है कि मैं वोट नहीं दे पाया। अगर, परिस्थिति अनुकूल होती, तो मैं जरूर आता।
डॉ. सीपी जोशी, विधायक नाथद्वारा व विधानसभा अध्यक्ष

Show More
Mukesh Kumar Hinger
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned