VIDEO : सुबह 7 बजे फेरे थे, रात को बोले बारात मत लाना, ये शादी नहीं हो सकती

Mukesh Hingar

Publish: May, 08 2019 08:00:00 AM (IST)

Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. मंगलवार की सुबह 7 बजे फेरे होने थे। विवाह वालों के घर बारात स्वागत और फेरे की तैयारी की जा रही थी इसी बीच रात 10 बजे घर पर पुलिस की गाड़ी देखी तो सब सन्न रह गए। पुलिस ने जिस लडक़ी की शादी हो रही उसके दस्तावेज देखे तो वह नाबालिग निकली। पुलिस ने पड़ौस में ले जाकर समझाइस की। बात बनी वहीं लडक़ें वालों को फोन करवा कर कहा कि बारात मत लाना, पुलिस आई है बाल विवाह नहीं हो सकता है। जी मामला है कि जिले के पानरवा थाना क्षेत्र के कोट गांव का। झाड़ोल एसडीएम पर्वतसिंह चुण्डावत को बाल विवाह की सूचना मिली। एसडीएम ने पानरवा थानाधिकारी को कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस स्थानीय पटवारी दीपक अहारी की मदद से रात 10 बजे कोट गांव में शादी वाले घर पहुंची, पता चला कि वहां लडक़ी के मंगलवार सुबह 7 बजे फेरे होने थे। पुलिस ने लडक़ी के आयु संबधित दस्तावेजों की जांच की, जिसमें उम्र 16 वर्ष 11 माह पाई गई। पानरवा थानाधिकारी सकाराम ने लडक़ी के माता-पिता व उनके सगे संबंधियों को पास के घर पर ले गए और उनको समझाइस कराई, कहा कि बाल विवाह कानूनी अपराध है, ये शादी आप नहीं करवा सकते है, उनको पाबंद भी किया। वहीं से परिवारजनों ने ओगणा थाना क्षेत्र में लडक़े वालों को सूचित किया कि मंगलवार को बारात लेकर नहीं आए, लडक़ी नाबालिग है। इस दौरान पुलिस टीम में रघुवीर सिंह, मुनेष चौधरी मौजूद थे।
---
तहसीलदार व पुलिस ने रुकवाई शादियां
इधर, जिले में पानरवा, सराड़ा और वल्लभनगर थाना क्षेत्रों में कार्रवाई की गई। दो जगहों पर अक्षय तृतीया पर बाल विवाह होने वाले थे, जबकि एक विवाह 12 मई को होना प्रस्तावित था। जिला प्रशासन ने सराड़ा के नावड़ा, झाड़ोल के सडा, गिर्वा के पई, सलूंबर के अमलोदा, खेरवाड़ा के ऋषभदेव में भी बाल विवाह रुकवाते हुए परिवारों को पाबंद किया। सराड़ा थाना क्षेत्र के सुरखंड का खेड़ा से बाल विवाह की बारात निकल रही थी। बालिग दुल्हन से शादी करने नाबालिग दूल्हा जाने वाला था। स्वयंसेवी संस्था की सूचना पर कलेक्टर ने सराड़ा थाना पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए। दूल्हे के पिता व परिजनों को पाबन्द किया। शादी के लिए जा रहे दूल्हे के दस्तावेजों की जांच की, जिसमें उसकी उम्र 19 वर्ष ही पाई गई। नाबालिग की बारात समीप के ही गांव नावड़ा जा रही थी।
..
परसादी के नाम पर बाल विवाह
भटेवर . वल्लभनगर तहसील के तारावट गांव में बाल विवाह की शिकायत पर तहसीदार संदीप अरोड़ा जांच करने पहुंचे। अरोड़ा ने बताया कि तारावट निवासी व्यक्ति 14 वर्षीय पुत्र की शादी की तैयारी में था। पूछताछ में सामने आया कि 12 मई को महादेवजी की प्रसादी कार्यक्रम होना बताया गया। प्रसादी की आड़ में बाल विवाह होने की जानकारी मिली। तहसीलदार ने परिजनों को बाल विवाह नहीं करने को पाबंद किया। इधर, करणपुर के आवरी माता की घाटी में बाल विवाह की शिकायत पर तहसीलदार पहुंचे। पूछताछ में बालिकाओं को बालिग होने की जानकारी मिली।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned