रावण को आदर्श बताने वालों पर भाजपा के अपनों ने ही रामबाण से साधा निशाना -

भाजपा जिला प्रभारी ने सोशल मीडिया पर मुरारी बापू का वीडियो किया वायरल
- बयानबाजी को लेकर भाजपा की राजनीति में नया अध्याय

उदयपुर/ कानोड़. udaipur Political news नगर पालिका चुनाव में भाग्य के भरोसे फिर से सत्ता हासिल करने में जुटी रही भाजपा अब तक भी हार के सदमे से बाहर नहीं निकल पा रही है। शायद यही वजह है कि हार से 'खिसियाएÓ भाजपा के सिपहसलार कभी रावण को आदर्श बताने में जुटे हैं तो कहीं पर पार्टी के बड़े जिम्मेदार पार्टी के हितैशियों को राम के जयकारे लगाने का ज्ञान दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर ही रावण और राम की जयकारे वाले पार्टी पदाधिकारियों के विचार विपक्षी पार्टी (कांग्रेस और जनता सेना) को मौका दे रहे हैं।
हाल ही में भाजपा के अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा महामंत्री गिरधारी लाल सोनी की ओर से रावण को आदर्श बताने वाला विवाद ठंडा भी नहीं पड़ा था कि भाजपा के जिला प्रभारी दिनेश जोशी ने सोशल मीडिया पर ही रामबाण की बौछार की। कार्यकर्ताओं को सीधे संदेश देते हुए जोशी ने कहा कि 'राम ही पार्टी का बाप हैÓ। जोशी की ओर से सोशल मीडिया पर वायरल किया गया मुरारी बापू का वह वीडियो भी खासा चर्चा में बना हुआ है, जिसमें प्रवचन के दौरान मुरारी बापू ने कहा है कि 'विधर्मी लोग राम राम को भुला रहे हैं। हमारे अंदर से भी छोटे-छोटे ग्रुप निकले हैं, जो अपने तथाकथित को बिठाकर राम को साइड कर रहे हैं। कहा कि कोई बोलो तो सही- राम को क्यों साइड कर रहे हो। राम सबका बाप है। प्रवचन में जहां मुरारी बापू विश्व को राम के आदर्शों चलने के लिए प्रेरित कर रहे थे। आलम यह है कि पार्टी प्रतिनिधियों को आवश्यक सबक सिखाने के लिए जिला प्रभारी को खुद के अलावा धर्मगुरुओं को माध्यम बनाना पड़ रहा है।

यूं चला सिलसिला
हुआ यूं था कि बुलंद सितारों के भरोसे कांग्रेस ने पालिका बोर्ड की सत्ता भाजपा को बेदखल कर दिया था। कांग्रेस का अध्यक्ष और उपाध्यक्ष बनने के बाद राजनीतिज्ञों की ओर से भाजपा पर कटाक्ष शुरू हो गए। जानकार यह कहने से नहीं चूक रहे थे कि भाजपा को जनता सेना से हाथ मिलाकर बोर्ड हथिया लेना चाहिए था। लोगों की जुबां पर बढ़ रही बातों के बीच ओबीसी मोर्चा जिलामंत्री सोनी ने दो दिसम्बर को मंडल अध्यक्ष के पुत्र धर्मवीर की सोशल साइड से रावण को आदर्श बताते हुए जनता सेना से कभी भी हाथ नहीं मिलाने की बात कह डाली। स्थानीय राजनीतिक में सोनी का वह वीडियो जोर-शोर से वायरल हो गया। इसके एक दिन बाद भाजपा की रीति-नीति से बाहर जाकर रावण के जयकारे लगाने वाले कार्यकर्ताओं को सीख देने के लिए भाजपा जिला प्रभारी दिनेश जोशी को भी सोशल मीडिया पर मुरारी बापू के प्रवचन वीडियो के साथ विचार वायरल करने पड़े। इसका अर्थ यही था कि पार्टी राम को ही आदर्श मानती है। रावण को नहीं। भाजपा के भीतरी द्वंद पर अन्य राजनीतिक संगठन चुटकियां ले रहे हैं। जिला प्रभारी दिनेश जोशी ने भाजपा मण्डल अध्यक्ष भगवतीलाल शर्मा की ओर से हाथ खड़े करते का फोटो भी पोस्ट किया, जिस पर एक ही धुन जय भारत, भारत माता की जय लिखा था।

दे चुके हैं सफाई
बता दें कि शब्दबाणों की राजनीति के बीच मोर्चा महामंत्री सोनी उनके बयानों में यह स्पष्ट कर चुके हैं कि उन्होंने विचारों की पंक्तियों को पूरा करने के लिए रावण को माध्यम बनाया था, जबकि वह खुद राम को आदर्श मानते हैं। बता दें कि सोनी ने कहा था कि 'दुश्मन के आगे सिर झुकाए, रावण का दस्तूर नहीं, मर जाना मंजूर मगर सीता देना मंजूर नहींÓ सोनी के इन बयानों की कांग्रेस जैसे धुरविरोधी राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने कड़ी आलोचना भी की थी।

जवाब पर बदले बोल
मुरारी बापू के वीडियो का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। राम ही राष्ट्र और राष्ट्र ही राम है। राम हमारे और पार्टी के प्रेरणा स्त्रोत हैं। गिरधारी सोनी के बयान को राम विरोधी बताना गलत है। उन्होंने रावण की मिशाल दी थी। udaipur political news न कि रावण की जयकार की थी।
दिनेश जोशी, भाजपा जिला प्रभारी, उदयपुर

Show More
Sushil Kumar Singh Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned