उदयपुर पर देशभर की निगाहें, दे रहा कोरोना के नतीजे

राजस्थान के 26 जिलों व देश के 15 राज्यों के ढाई लाख से अधिक नमूने आए
आरनएटी की लैब में उदयपुर के एक लाख से अधिक नमूनों की जांच

By: bhuvanesh pandya

Published: 22 Nov 2020, 03:19 PM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. विश्व के सबसे सुंदर शहरों में शामिल उदयपुर में कोरोना काल के बाद पर्यटकों की कमी जरूर आई है, लेकिन देश के 15 राज्यों सहित पूरे प्रदेश की निगाहें अभी भी झीलों की नगरी पर टिकी हुई है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां के आरएनटी मेडिकल कॉलेज की लैब में देशभर के कोरोना के संदिग्ध मरीजों की जांच के लिए नमूने आ रहे हैं। अब तक देश के 15 राज्यों सहित प्रदेश के 26 जिलों से यहां नमूने आए हैं, जिनकी जांच होकर यहां से रिपोर्ट भेजी गई है। यही वजह है कि पूरे देश के बड़े अस्पतालों का यहां से संपर्क बढ़ गया है। वहां से नमूने आने के बाद मरीजों को भी उदयपुर की ही रिपोर्ट का इंतजार रहता है। कोरोना का कहर शुरू होने के साथ ही मार्च से अगस्त तक पिछले छह माह में उदयपुर के आरएनटी मेडिकल कॉलेज में ढाई लाख से अधिक नमूनों की जांच हो चुकी है। खास बात ये है कि इसमें प्रदेश के 25 जिलों और देश के 15 राज्यों के लोगों के नमूने जांचे गए हैं। इसमें जांच के नाम पर ही करीब 25 करोड़ 67 लाख 56 हजार रुपए खर्च किए गए हैं।
-----

इन राज्यों और जिलों के लोग हैं शामिल
राजस्थान सहित दिल्ली, आन्ध्रप्रदेश, बिहार, गुजरात, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पं.बंगाल, झारखंड के लोगों के भी नमूने जांचे गए हैं। इसी प्रकार राजस्थान के उदयपुर सहित अलवर, अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चित्तौडगढ़़, चूरू, बूंदी, डूंगरपुर, जयपुर, दौसा, जालोर, जोधपुर, कोटा, झालावाड़, पाली, प्रतापगढ़, राजसमन्द, सीकर, झुंझुनूं, सिरोही, टोंक, श्री गंगानगर जिले के लोगों की जांच की गई।

-------

16,500 सेे अधिक नेगेटिव, 6648 पॉजिटिव
अगस्त माह तक 166411 नमूने नेगेटिव आए, जबकि 6648 पॉजिटिव, 1970 रिपीट नमूने हैं, जबकि 610 दोबारा पॉजिटिव निकले हैं। इसी प्रकार नवम्बर तक 256756 नमूनों की जांच की गई है। इसमें से अब तक 16777 नमूने पॉजिटिव निकले हैं।

-----
यह है हमारी लैब की स्थिति

आरएनटी मेडिकल कॉलेज की लैब में वर्तमान में तीन आरएनए टेस्ट मशीन है, जबकि छह पीसीआर मशीन उपलब्ध है। इसमें 16 सीनियर लैब टेक्नशियन, 8 रिसर्च असिस्टेंट, 10 लैब टेक्नीशियन कार्यरत हैं।
-----

अब तक ये हुआ खर्च
अब तक प्रति जांच करीब एक हजार रुपए खर्च बताया जा रहा है। ऐसे में यहां करीब पौने 26 करोड़ रुपए जांच के नाम पर खर्च हो चुके हैं।

----
प्रतिदिन नियमानुसार टेस्ट

हमारा कार्य नियमित जारी है। प्रतिदिन नियमानुसार टेस्ट किए जा रहे हैं। अब स्टाफ व संसाधनों की कोई कमी नहीं है। पूरी टीम मेहनत से कार्य में जुटी हुई है।
डॉ. अंशु शर्मा, प्रभारी, माइक्रोबॉयलोजी लैब, आरएनटी मेडिकल कॉलेज, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned