उदयपुर की मानसी और महेंद्र के इनोवेशंस ने क‍िया देश में नाम, साबित की अपनी प्रतिभा

मानसी का बनाया सॉफ्टवेयर करेगा 30 सेकंड में 3 महीने की ऑडिट

By: madhulika singh

Updated: 23 Feb 2021, 05:50 PM IST

उदयपुर. शहर की सीए मानसी जैन ने राजकोट के सीए पलक वसा एवं आईआईटी रूडक़ी के स्मित परसानिया के साथ मिलकर एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाया है जो 3 महीने का ऑडिट मात्र 30 सेकंड में कर सकेगा। इस सॉफ्टवेयर का नाम है-आईऑडिट। इस सॉफ्टवेयर को दक्षिण एशिया की टॉप 10 स्टार्टअप में शामिल किया गया है, जो विशेष उपलब्धि है। इस उपलब्धि के लिए प्रोत्साहन स्वरूप इन्हें 8 लाख रुपए का पुरस्कार मिला तथा गुजरात सरकार की ओर से इस स्टार्टअप की महत्वता को देखकर 30 लाख रुपए का अनुदान भी दिया गया।

मानसी ने बताया कि यह सॉफ्टवेयर बैंकिंग क्षेत्र के साथ ई-कॉमर्स एवं मल्टीनेशन कम्पनियों के लिए कारगर साबित होगा। मानसी सेक्टर 8 निवासी डोटिया अनिल जैन की पुत्री हैं और स्कूली शिक्षा सेन्ट मेरी स्कूल से पूर्ण की और प्रथम बार में सीए की परीक्षा उत्तीर्ण कर मुंबई चली गई।

mahendra.jpg

महेंद्र मीना ने जीता एग्रीकल्चर इनोवेशन चैलेंज

भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय व भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के तत्वावधान में राष्ट्रीय स्मार्ट एग्रीकल्चर इनोवेशन चैलेंज (एग्री इंडिया हैकथॉन 2021) हुआ। इसमें महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (एमपीयूएटी) की तरफ से महेंद्र मीना ने इनोवेशन चैलेंज जीता। प्रतियोगिता में देश भर से 6000 से अधिक प्रतिभागियों व 1,000 से अधिक स्टार्टअप कंपनियों ने भाग लिया था ।
महेंद्र मीना ने इनोवेशन चैलेंज 2021 में पोस्ट हार्वेस्ट फूड टेक्नोलॉजी व मूल्य संवर्धन कै टेगरी के साथ ही सभी प्रतिभागियों में देश भर में सबसे अव्वल रहे। साथ ही में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा एक लाख रुपए की नगद पुरस्कार राशि प्राप्त की।

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned