उदयपुर में यातायात पुलिस ने अचानक बिना सोचे -समझे ऐसा फरमान क‍िया जारी.. ज‍िससे पर्यटकाेें को झेलनी पड़ रही ये परेशानी..

उदयपुर में यातायात पुलिस ने अचानक बिना सोचे -समझे ऐसा फरमान क‍िया जारी.. ज‍िससे पर्यटकाेें को झेलनी पड़ रही ये  परेशानी..

Madhulika Singh | Publish: Sep, 05 2018 01:08:05 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India


www.patrika.com/rajasthan-news

 

मो. इल‍ियास/उदयपुर . पर्यटन सीजन में यातायात पुलिस ने अचानक बिना सोचे -समझे पर्यटकों पर गाज गिराते हुए उनके वाहनों को पर्यटन स्थलों से दूर रोककर उन्हें परेशान कर दिया। दूधतलाई पर जाने वाले वाहनों को गुलाबबाग के पास पाला गणेश पर रोक दिया तो फतहसागर पाल जाने वाले वाहनों को यूआईटी मार्ग पर डायवर्ड कर व्यवस्था ही बिगाड़ दी। महज एक दिन में ही पर्यटक स्थलों पर सैलानियों की संख्या घटते ही व्यापारियों खासी नाराजगी जताई। व्यापारियों का कहना था कि सभी पर्यटक स्थलों पर बकायदा नगर निगम ने सशुल्क पार्किंग स्थल तय कर रखे हैं तो पुलिस ने सड़कों पर ही पर्यटकों की गाडि़यां खड़ी करवाकर व्यवस्था और क्यों बिगाड़ी है। रोचक तथ्य यह है कि पुलिस ने स्थानीय वाहनों की इन्ट्री को इस व्यवस्था से मुक्त रखा जिनका पर्यटन स्थलों से कोई विशेष लेना-देना नहीं हैं। दूधतलाई पर महज एक दिन व फतहसागर पर तीन दिन से चली इस व्यवस्था से पर्यटकों के परेशान होने की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक ने मंगलवार शाम पुन: पूर्व व्यवस्था को बहाल किया। उनका कहना था कि असमंजस की स्थिति के कारण एेसा हुआ, यातायात व्यवस्था पूर्व की भांति ही रहेगी। गौरतलब है कि उदयपुर में सितम्बर से दिसम्बर तक पर्यटन सीजन रहता है। प्रतिवर्ष व्यवस्था व जाम की स्थिति से निपटने के लिए पुलिस पहले से प्लान तय कर नो इंट्री व पार्किंग स्थल तय करती है लेकिन इस बार तो अति कर दी।

--

एक किमी. ज्यादा पैदल चलाया पर्यटकों को

- सूरजपोल व पटेल सर्कल से आने वाली गाडि़यों को पुलिस ने पाला गणेशजी पर ही रोक दिया।

- गुलाबबाग-किशनपोल रोड पर पर्यटकों की गाडि़यों की सड़क के दोनों तरफ पार्र्किंग करवा दी, वहां पर लम्बा जाम के साथ ही पर्यटकों को खासी परेशानी हुई। कुछ ने विरोध भी किया।

- सीजन के बावजूद दिनभर दूधतलाई मार्ग पर सन्नाटा रहा। रोप-वे, बोटिंग व उद्यान में पर्यटक कम पहुंचे। धंधा जानकारी पर हकीकत सामने आई तो व्यापारियों ने विरोध जताया।

- बाहर से आए पर्यटक बच्चों व अन्य के साथ करीब एक से डेढ़ किलोमीटर तक पैदल पहुंचे जबकि स्थानीय लोगों की गाडि़यों पर कोई रोक-टोक नहीं थी। दूधतलाई पर व्यापारी का छीना रोजगार दूधतलाई में आने वाले पर्यटकों लिए नगर निगम ने बकायदा वहां पर तीन पार्किंग स्थल बनाए हैं। रोपवे पर 50 व माणिक्यलाल वर्मा पार्क पर 100 व प्रतिमा विसर्जन कुंड के पास 100 गाड़़‍ि़यां पार्क हो सकती है। पर्यटक को अगर नीचे ही रोक दिया गया तो निश्चित रूप से कोई यहां तक पैदल नहीं आएगा। पर्यटकों के कारण ही लेकसिटी गुलजार होकर लोगों को रोजगार मिल रहा है। महज एक दिन की इस व्यवस्था से धंधा तो प्रभावित हुआ लेकिन पर्यटक भी गलत छवि लेकर गए।

 

READ MORE : लेकसिटी में प्रमुख पर्यटन स्थलों पर रमेगी गवरी

 

फतहसागर पर तीन दिन से पर्यटक परेशान

पुलिस ने फतहसागर पर व्यवस्था में तब्दीली कर गाडि़यों को काला किवाड़, मेवाड़ दीर्घा व मोतीमगरी के वहां बेरिकेड्स लगाकर रोक दिया जहां से पर्यटक मुंबई बाजार व नाव की जेटी तक पैदल गए। पर्यटकों के वाहनों को पुलिस ने तीन दिन से फतहसागर पाल की तरफ जाने नहीं दे रही। पुलिस सीधा उन्हें यूआईटी वाले मार्ग की तरफ डायवर्ड कर रही है जबकि पर्यटक पाल व फिश एक्वेरियम देखने आते हैं। इस जगह पुलिस की स्थानीय गाडि़यों की कोई रोक-टोक नहीं की। पाल पर बड़ी पार्किंग फिर क्यों रोके वाहन मोतीमगरी रोकने से पर्यटक मुंबई बाजार व जेटी तक पैदल नहीं आ रहा है। वाहन मोती मगरी से पहले ही पार्क होने से यातायात व्यवस्था व पार्र्किंग गड़बड़ा रही है। यहां पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात करना पड़ रहा है। फतहसागर पाल के बाहर निगम की ओर से बड़ी पार्किंग की व्यवस्था है तो पर्यटकों के वाहनों को यूआईटी मार्ग पर डायवर्ड करना गलत है।

 

शहर में यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए वैकल्पिक तौर पर व्यवस्था की थी कि पर्यटक अपने वाहन को नगर निगम की ओर से निर्धारित टाउनहॉल, गुलाबबाग व अन्य जगह वाहन पार्क कर दें। उसके बाद वह पूरे शहर व पर्यटक स्थल पर घूमकर वापस अपने वाहन पार्किंग स्थल पर आ जाए। इससे बडे़ वाहन एक जगह रहने से जाम की स्थिति नहीं होगी।

रतन चावला, उपाधीक्षक यातायात

 

असमंजस की स्थिति के कारण एेसा हुआ है। यातायात व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं किया गया। पूर्व की भांति व्यवस्था यथावत रहेगी।

कुंवर राष्ट्रदीप पुलिस अधीक्षक

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned