यूआईटी की डोर स्टेप डिलीवरी सर्विसेज पसंद आई नगर निगम को, मन बनाया शुरू करने का

उदयपुर में एक कॉल से घर बैठे होंगे यूआईटी udaipur uit के काम

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 29 Oct 2020, 09:15 AM IST

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. अब घर बैठे एक कॉल के जरिए जनता से जुड़े पांच कार्य उदयपुर की यूआईटी udaipur uit करेगी। यूआईटी आपके द्वार (डोर स्टेप डिलीवरी) योजना का आगाज बुधवार को उदयपुर में किया गया। यूआईटी का दावा है कि उदयपुर पहला शहर है जिसने यह सेवा शुरू की है। यूआईटी इस सेवा का आगे विस्तार करते हुए कुछ और कार्य भी इसमें जोड़ेगी।
नगर निगम के सभागार में हुए कार्यक्रम में संभागीय आयुक्त विकास एस.भाले, जिला कलक्टर व यूआईटी चेयरमैन चेतन देवड़ा, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, मेयर गोविन्द सिंह टांक, डिप्टी मेयर पारस सिंघवी, यूआईटी सचिव अरुण हसीजा ने योजना का शुभारंभ किया। इस अवसर पर यूआईटी के विशेषाधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह शेखावत, निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी आदि मौजूद थे। इस कार्यक्रम को नगर निगम ने भी पसंद किया और मेयर तो यह तक बोले कि इस तरह की सर्विसेज निगम में भी शुरू की जाए।

इस नंबर पर करना होगा कॉल
9587895454

ये पांच प्रकार की सर्विस मिलेगी

1. नामांतरण
2. उप विभाजन
3. भवन निर्माण अनुमति
4. संयुक्तिकरण
5. लीज मुक्ति प्रमाण पत्र

खाद्य सामग्री के 5 साल में नमूने लिए 2718 और 774 फेल निकले

ऐसे होगा घर बैठे काम
- सोमवार से शनिवार सुबह 8 से शाम 4 बजे तक कॉल सेंटर कार्य करेगा।
- कॉल करने के बाद प्रतिनिधि 24 घंटे के भीतर लेपटॉप व स्केनर साथ लाकर घर पहुंचेगा
- घर से दस्तावेज व आवेदन अपलोड की प्रक्रिया पूरी की जाएगी
- कार्य पूरा होने के बाद उसका दस्तावेज भी घर पहुंचाया जाएगा।
- सीधे तौर पर आवेदक को कोई भुगतान नहीं करना होगा
- आवेदक को इस सेवा का 425 रुपए अपने कार्य की जो राशि है उसके साथ ऑनलाइन जमा करानी होगी

पंचायत चुनाव : कांग्रेस में टिकट पैटर्न का इंतजार

कौन क्या बोला...

- संभागीय आयुक्त भाले ने कहा कि यह प्रयास आमजन को राहत के साथ समय पर सेवाओं का लाभ समय पर दिलाने में कारगर साबित होगा।
- कलक्टर देवड़ा ने कहा कि इस नवाचार के जल्द ही इस सुविधा का दायरा बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार के 10 हजार आवास का लक्ष्य जो 2022 तक निर्धारित था, उसे 2021 से पूर्व हासिल करना एक उपलब्धि है। कारोनो को लेकर कहा कि आज स्थिति नियंत्रण में है लेकिन यह प्रतिबद्धता बरकरार रहे।
- मेयर टांक ने कहा कि निगम के पास धन की कोई कमी नहीं है, अभी यूआईटी सचिव के पास ही निगम आयुक्त का चार्ज भी है तो इस योजना को निगम में भी लागू किया जाए जिससे अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिल सके।
- ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा ने कहा कि अब लोगों को चक्कर नहीं लगाने पडेंगे और घर बैठे यह सुविधाएं मिलने से समय की बचत भी होगी।
- यूआईटी सचिव हसीजा ने कहा कि कार्यों के समयबद्ध निस्तारण के लिए ‘क्लाउड ऑफ दी विक एवं स्टार ऑफ दी विक‘ की पहल चलाई।

20 से ज्यादा कॉल आए, पहला कार्य नामांतरण का
इस सेवा के तहत पहले दिन करीब 20 से 25 कॉल आए जिसमें लोगों ने जानकारी ली। आवरीमाता कच्ची बस्ती इलाके से एक व्यक्ति कॉल पर उसके घर शाम को जाकर टीम ने प्रक्रिया को पूरा किया।

Show More
Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned