स्मार्ट सिटी का स्मार्ट डाटा प्लान, 100 रुपए में पाए 1 जीबी डाटा

बीएसएनएल की ओर से शनिवार को ही उदयपुर में आठ स्थानों पर वाई-फाई सुविधाएं शुरू की गई है।

बीएसएनएल की ओर से शनिवार को ही उदयपुर में आठ स्थानों पर वाई-फाई सुविधाएं शुरू की गई है। महाप्रबंधक श्रवण कुमार ने डेमो के जरिए कटारिया को जानकारी दी। कुमार ने बताया कि जल्दी ही अन्य स्थानों को भी वाई-फाई किया जाएगा। शनिवार को टाउन हॉल, देहलीगेट, कोर्ट चौराहा एक्सचेंज, चेतक बीएसएनएल शॉप, सेक्टर चार संचार भवन, बोहरा गणेशजी एक्सचेंज, फतहपुरा एक्सचेंज, कृषि उपज मंडी एक्सचेंज में यह सुविधा शुरू की गई है। इसमें से टाउन हॉल, कोर्ट चौराहा, चेतक सर्कल और कृषि उपज मंडी पर किसी भी नंबर पर एक बार पहले 15 मिनट फ्री वाई-फाई मिलेगा और उसके बाद सशुल्क। एक दिन के लिए दस रुपए में 100 एमबी तो 100 रुपए में 28 दिन के लिए 1 जीबी डाटा मिलेगा। 

निखरा पर्यटन स्वागत केन्द्र

सूरजपोल स्थित फतह मेमोरियल में आधुनिक रूप में तैयार किए गए पर्यटन स्वागत केन्द्र का उद्घाटन भी कटारिया ने किया। वैसे यह कार्य स्मार्ट सिटी के बजट में नहीं हुआ, लेकिन स्मार्ट सिटी के लिए स्मार्ट पर्यटन स्वागत केन्द्र बनाया गया है। इस कार्य पर यूआईटी ने करीब 50 लाख रुपए खर्च किए हैं।    स्मार्ट सिटी के लिए छात्रों की अनूठी प्रणालियांउदयपुर. विद्या भवन पॉलिटेक्निक कॉलेज में शनिवार को फाइनल ईयर के विद्यार्थियों ने स्मार्ट तकनीक पर आधारित विभिन्न मॉडल प्रदर्शित किए। प्राचार्य डॉ. अनिल मेहता ने विद्यार्थियों के प्रयासों को एक अभिनव प्रयास बताया। इनमें कई तकनीक स्मार्ट सिटी के लिए कारगर साबित हो सकती है। 

रेडियो फ्रिक्वेंसी पर आधारित कार पार्किंग सिस्टम : इस मॉडल के अन्तर्गत प्रत्येक कार यूजर को एक आरएफआईडी कार्ड दिया जाएगा। इसके जरिए उपयोगकर्ता अपनी कार को निर्धारित स्थान पर ही पार्किंग कर सकेगा। इसका उपयोग अनधिकृत पार्किंग  को रोकने के लिए किया जा सकता है। 

माईक्रो कंट्रोलर साइज सॉर्टिग सिस्टम : इसके प्रयोग से  विभिन्न आकार व साइज की वस्तुओं को अलग-अलग किया जा सकेगा। यह उद्योगों के लिए भी उपयोगी साबित होगा।

माइक्रो कंट्रोलर ध्वनि नियंत्रित व्हील चेयर : दिव्यांग इस व्हील चेयर को अपनी आवाज से निर्देर्शित कर  चालू-बंद अथवा दाएं-बाएं मोड़़ सकेंगे। 

माइक्रो कन्ट्रोलर वाटर लेवल कन्ट्रोलर : ओवरफ्लो अथवा टैंक खाली होने पर ऑटोमेटिक सिस्टम काम करना शुरू कर देगा। 

इलेक्ट्रिक मोटर रिमोट : इस तकनीक में मोटर-स्पीड को एक इलेक्ट्रोनिक स्विचिंग डिवाइस की सहायता से कंट्रोल किया जा सकेगा। यह भी उद्योगों के लिए यह लाभदायक हो सकता है। इसके अतिरिक्त ऑनलाइन ब्लड बैंक सिस्टम सहित स्मार्ट सिटी में आने वाले पर्यटकों के लिए ऑनलाइन गाइड  सिस्टम भी बनाया गया है।

एल्कोहल डिटेक्शन सिस्टम : इसके लगाए जाने से एल्कोहल सेवन की दशा में वाहन स्टार्ट ही नहीं होगा। 

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned