उदयसागर की जलकुंभी निकालने डिविडिंग मशीन लगाएंगे

उच्च न्यायालय की गठित निगरानी समिति की बैठक, सीवरेज लाइन को बाहर निकालने के लिए 11 करोड़ स्मार्ट सिटी में

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 07 Mar 2021, 11:35 AM IST

उदयपुर. उदयसागर झील से जलकुंभी निकालने के लिए वहां नगर निगम से डिविडिंग मशीन लगाई जाएगी। पिछोला झील से सीवरेज को बाहर निकालने के लिए अब उदयपुर स्मार्ट सिटी कंपनी के जरिए कार्य कराने को लेकर भी चर्चा हुई।
यह बात शुक्रवार को उच्च न्यायालय द्वारा गठित निगरानी समिति की जिला कलक्ट्री में अतिरिक्त कलक्टर (प्रशासन) ओपी बुनकर की अध्यक्षता में हुई बैठक में बताई गई। बैठक में कई विषयों पर चर्चा की गई। सदस्यों ने कहा कि बैठक का एजेंडा बैठक में ही देने की बताय करीब दस दिन पहले सदस्यों को दिया जाए ताकि वे तैयारी कर सके। साथ ही बैठकों की कार्यवाही विवरण भी समय पर सदस्यों को उपलब्ध कराने को कहा गया। बैठक में झीलों के बारे में जो भी मामले सामने आ रहे है उनकी नियमित समीक्षा करने और कार्रवाई करने को कहा गया। साथ ही सदस्यों ने कहा कि कमेटी का गठन हुए तीन साल हो गए और अब तक जो कार्य हुए उसकी समीक्षा की जाए। बैठक में सदस्य अधिवक्ता प्रवीण खंडेलवाल, संजीत पुरोहित, जीपी सोनी, एडीएम सिटी अशोक कुमार, नगर निगम आयुक्त हिम्मत सिंह बारहठ, स्मार्ट सिटी, प्रदूषण नियंत्रण मंडल व मत्स्य विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

बैठक की मुख्य बातें
- पिछोला झील से सीवरेज लाइन को बाहर निकालने के लिए स्मार्ट सिटी कंपनी की तरफ से चल रही पक्रिया से भी अवगत कराया गया
- उदयसागर झील में जलकुंभी साफ करने के लिए एक महीने डिविंडिंग मशीन लगाई जाएगी
- बड़ी झील से महाशीर मछली को बचाने पर काम हो, मत्स्य विभाग ने ठेके दे दिए और उसमें ठेकेदार को इस मछली को नहीं पकडऩे के लिए पाबंद किया जबकि ऐसे कैसे संभव है, इस पर पूरी जानकारी मांगी।
- पिछोला व फतहसागर पर पानी की तरफ लगी बड़ी हेलोजन लाइटों के प्रकाश झील के दूसरी तरफ किया जाए ताकि रात में जलीय जंतु परेशान नहीं हो
- गुलाबबाग स्थित कमल तलाई में पानी के प्राकृतिक फ्लो के बंद होने को लेकर चर्चा हुई

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned