scriptUniversity is the backbone of our culture and knowledge tradition, it | विश्वविद्यालय हमारी संस्कृति और ज्ञान-परंपरा की पीठ, यहां संविधान के आदर्शों की शिक्षा देनी जरूरी: राज्यपाल | Patrika News

विश्वविद्यालय हमारी संस्कृति और ज्ञान-परंपरा की पीठ, यहां संविधान के आदर्शों की शिक्षा देनी जरूरी: राज्यपाल

- 29 वा दीक्षान्त समारोह - 105 स्वर्ण पदक और 180 पीएचडी डिग्रियां प्रदान की

- दीक्षांत रजिस्टर शुरू करने वाला पहला विश्वविद्यालय बना एमएलएसयू

उदयपुर

Published: December 23, 2021 09:15:33 am

उदयपुर. राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि वह विश्वविद्यालयों को संस्कृति और ज्ञान- परंपरा की पीठ मानते हैं, इसलिए यह जरूरी है कि यहाँ संविधान के आदर्शों की भी शिक्षा दी जाए। मिश्र बुधवार को मोहनलाल सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के 29 वें दीक्षान्त समारोह की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रहे थे। सुखाडिय़ा विवि में ऐसे विषयों पर शोध की परम्परा विकसित हो, जिनका दायरा व्यापक हो। शोध ऐसा हो जो मानव-कल्याण के लिए उपयोगी हो। शिक्षा में पाठ्यक्रम निरंतर अपडेट हो, पुस्तकालयों में नवीनतम ज्ञान की पुस्तकों का समावेश हो, विभाग विद्वानों के एसे संवाद आयोजित करे, जिनसे विद्यार्थियों को विषय से जुड़े गहन ज्ञान में रुचि पैदा हो। स्वर्ण पदक लेने वाली छात्राओं की अधिक संख्या पर उन्होंने इसे बालिका शिक्षा के लिए शुभ संकेत बताया। मिश्र ने कहा कि देश की नई शिक्षा नीति हमारी प्राचीन भारतीय शिक्षा-पद्धति से प्रेरित है। नई शिक्षा नीति से नए सोपान तय:विशिष्ट अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री राजेंद्र सिंह यादव ने कहा कि प्रारंभिक शिक्षा जितनी महत्वपूर्ण होती उतनी ही महत्वपूर्ण विश्वविद्यालयी शिक्षा भी होती है, क्योंकि यही हमारे जीवन की दिशा और दशा का निर्धारण करते हैं। नई शिक्षा नीति के जरिए शिक्षा के नवीन सोपान तय किए गए हैं। स्वर्ण पदक में छात्राओं की अधिक संख्या को उन्होंने छात्रों के लिए चेतावनी की घंटी बताया। ऑनलाइन जुड़े मैरीलैंड यूएसए के सलाहकार डॉ फ्रैं क एफ इस्लाम ने कहा कि भारत की कला, इतिहास, संगीत, संस्कृति और रीति-रिवाज से उन्हें प्यार है।भारत संभावना व आशाओं का देश: ऑनलाइन जुड़े भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक प्रो बलराम भार्गव ने कहा कि भारत संभावनाओं और आशाओ का देश है, जहाँ सर्वाधिक युवा है। बीते एक साल से कोविड ने पूरे विश्व को प्रभावित किया है, लेकिन हमारे कोविड प्रबन्धन को पूरे विश्व में सराहा गया। सुविवि को विश्व स्तरीय बनाना लक्ष्य एमएलएसयू कुलपति प्रो अमेरिका सिंह ने गत एक वर्ष में उपलब्धियों की जानकारी दी। बीते 1 वर्ष में किए गए विभिन्न शोध, पेटेंट, नवाचारों, नए पाठ्यक्रमों, नए संकाय एवं शिक्षकों को प्राप्त विभिन्न राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों की जानकारी देकर कहा कि विश्वविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने का लक्ष्य है। नाथद्वारा के पास बिलोदा गांव में विश्वविद्यालय का नया केंपस बनाया जा रहा है, जो कि अगले शिक्षा सत्र से शुरू हो जाएगा। यह उच्च शिक्षा की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।
विश्वविद्यालय हमारी संस्कृति और ज्ञान-परंपरा की पीठ, यहां संविधान के आदर्शों की शिक्षा देनी जरूरी: राज्यपाल
विश्वविद्यालय हमारी संस्कृति और ज्ञान-परंपरा की पीठ, यहां संविधान के आदर्शों की शिक्षा देनी जरूरी: राज्यपाल
------

105 स्वर्ण पदक 180 पीएचडी डिग्रीदीक्षांत समारोह में 105 स्वर्ण पदक दिए, जिनमें 51 छात्राओं ने गोल्ड मेडल प्राप्त किया। 8 विद्यार्थियों को चांसलर मेडल दिया जिसमें 4 छात्राएं थीं। 89 विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक और 8 विद्यार्थियों को प्रायोजित मेडल दिए गए। 74 विद्यार्थियों ने पदक प्राप्त किया। 180 पीएचडी उपाधि धारकों को डिग्री दी, इसमें विज्ञान संकाय में 28 में से 11 छात्राएं व वाणिज्य संकाय 22 में से 8 छात्राएं, विधि संकाय में 3 में से1 छात्रा, पृथ्वी पृथ्वी विज्ञान संकाय में 17 में से 3 छात्राएं, सामाजिक विज्ञान संकाय में 36 में से 19 छात्राएं, शिक्षा संकाय में 22 में से 15 छात्राएं, प्रबंध अध्ययन संकाय में 13 में से 2 छात्राएं, मानविकी संकाय में 39 में से 20 छात्राओं को डिग्री दी गई। इसमें 149 विद्यार्थी स्वयं पहुंचे व पीएचडी की डिग्री ली। गत शैक्षणिक सत्र में उत्तीर्ण हुए 45861 स्नातक एवं 13132 स्नातकोत्तर विद्यार्थियों को डिग्री का अनुमोदन राज्यपाल द्वारा किया गया। इसमें विज्ञान में 4382 स्नातक, 866 स्नातकोत्तर, वाणिज्य में 5573 स्नातक 3361 स्नातकोत्तर, विधि में 1131 स्नातक 121 स्नातकोत्तर, कला में 27108 स्नातक 8499 स्नातकोत्तर, शिक्षा संकाय में 7667 स्नातक, 39 स्नातकोत्तर तथा प्रबंध अध्ययन संकाय में 246 विद्यार्थियों को स्नातकोत्तर की डिग्री का अनुमोदन किया गया। पूर्व में राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। संचालन रजिस्ट्रार सीआर देवासी ने किया।
------------

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

शरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 5,760 नए मामले, संक्रमण दर 11.79%Republic Day 2022 parade guidelines: कोरोना की दोनों वैक्सीन ले चुके लोग ही इस बार परेड देखने जा सकेंगे, जानिए पूरी गाइडलाइन्सएमपी में तैयार हो रही सैंकड़ों फूड प्रोसेसिंग यूनिट, हजारों लोगों को मिलेगा कामDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीपुण्यतिथि पर याद की जा रहीं Vijaya Raje Scindia, 'बेटी' Vasundhara Raje ने कुछ इस तरह से किया 'मां' को यादweather forecast news today live updates: उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड जारी, कई राज्यों में बारिश की सम्भावनाकोविड के शिकार हो चुके बच्चो को मधुमेह होने का खतरा क्यों है?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.