सतर्कता ही सबसे बड़ा हथियार- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सीएम ने किया अधिकारियों से संवाद

By: bhuvanesh pandya

Updated: 21 Apr 2021, 06:11 AM IST

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. प्रदेश में कोरोना के बढ़ते जा रहे मामलो पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफ ी घातक साबित हो रही है। प्रदेश में ही नहीं देश के हालात खराब है। कोरोना से बचाव हेतु केवल दो ही रास्ते है एक मास्क का उपयोग व दूसरा वैक्सीनेशन। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीज को बचाने हेतु ऑक्सीजन बहुत जरुरी है अत: वर्तमान स्थिति को देखते हुए हम हरसंभव कोशिश कर रहे है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी ना आये इस हेतु केंद्र सरकार से भी संवाद कर मदद मांगी जा रही है। सीएम गहलोत ने कहा कि पहले के मुकाबले वायरस का नया रूप ज्यादा घातक है। एक साथ पूरे के पूरे परिवार संक्रमित मिल रहे है। संक्रमण बहुत अधिक फैलने का एक मुख्य कारण लोगो द्वारा बरती जा रही लापरवाही भी है। कई एसिमटोमैटिक मरीजो को पता भी नही चलता की वो संक्रमित है और मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही करने की वजह से वो और लोगो को संक्रमित करते जाते है। इसी वजह से चैन नही टूट रही है।

-----

वैक्सीनेशन सभी का होना चाहिएमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन बहुत बड़ा हथियार है। उन्होंने केंद्र की नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर समय रहते केंद्र सरकार आयु सीमा की बाधा ना रखकर सभी को वैक्सीनेट करने की अनुमति प्रदान कर देती तो आज हालात इतने भयावह नही होते। वायरस के नए वैरिएंट से युवा ज्यादा संक्रमित हो रहे है क्योंकि उन्हें रोजगार के लिए इधर उधर जाना पड़ता है अगर 45 से कम उम्र वाले लोगो को भी वैक्सीन लग जाती तो संक्रमण की दर पर काफ ी हद तक काबू पाया जा सकता था।लॉकडाउन का सुझावबैठक के दौरान उपस्थित चिकित्सकीय सलाहकार सदस्यों ने कहा कि नए वेरिएंट की संक्रमण दर बहुत अधिक है और वर्तमान में यह शहरो में ही नही बल्कि गाँवों में भी बहुत अधिक फैल रहा है। इस भयावह लहर के बावजूद भी लोग कोरोना एप्रोप्रियेट बिहेवियर की पालना नही कर रहे है यह चिंता का विषय है एवं जिस गति से संक्रमण बढ़ रहा है उसको देखते हुए लॉकडाउन ही एक मात्र उपाय है। क्योंकि बिना लॉकडाउन संक्रमण की चैन तोडना असंभव है। उदयपुर डीओआईटी केंद्र से जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा, पुलिस अधीक्षक डॉ राजीव पचार, अति जिला कलेक्टर ओ पी बुनकर, आरएनटी प्राचार्य डॉ लाखन पोसवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी एवं उपमहापौर पारस सिंघवी मौजूद थे।

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned