ग्रामीणों को नहीं मिल रहा पेयजल

घटिया पाइपलाइन से बार-बार होता है पानी लीकेज

भींडर. पंचायत समिति के ग्राम पंचायत बाठेरडा खुर्द में करीब 86 लाख रुपए की जनता जल योजना पूर्ण होने के बाद भी लोगों को पर्याप्त पेयजल नहीं मिल रहा है। योजना पूर्ण होने के दो वर्ष बाद ग्राम पंचायत ने योजना को अपने अंडर में ले किया, लेकिन इसका पंचालन सुचारू रूप से नहीं हो पा रहा है, इससे ग्रामीणों को पानी नहीं मिल रहा है। जानकारी के अनुसार वल्लभनगर विधायक गजेंद्रसिंह शक्तावत ने पूर्व कार्यकाल में इस योजना को स्वीकृत करवाई थी। इसमें दो ओपनवेल, एक टंकी, सप्लाई पाइप लाइन, 10 से 12 सार्वजनिक नल व दोनों कुओं से टंकी में कनेक्शन किए गए। यह योजना करीब एक वर्ष में तैयार हुई। इसके बाद इसका संचालन ठेकेदार द्वारा किया जा रहा था। पंचायत ने जलापूर्ति सिस्टम की ओर कोई ध्यान नही़ं दिया गया। ग्रामीणों का यह भी आरोप है कि ठेकेदार ने घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया। इससे दो वर्ष तक योजना सुचारू रूप से चली थी, लेकिन इसके बाद पंचायत को योजना अपने अंडर में लेनी थी। ठेकेदार से पंचायत द्वारा योजना को अपने अंडर में लेने से पहले योजन की गुणवत्ता की जांच नहीं की गई व आनन-फानन में ले ली गई। पंचायत ने जलापूर्ति शुरू की, तो पाइप लाइन लीकेज हो गई। ग्रामवासियों को इसका लाभ मिलना बंद हो गया। ग्रामीणों का आरोप है कि पंचायत व ठेकेदार की लापरवाही या उदासीनता के चलते लोगों को एक किलोमीटर दूरी पर स्थित कूओं से पानी लाना पड़ रहा है।

योजना के तहत खोदे गए दो ओपनवेल में पानी की कोई कमी नहीं है। दोनों कुएं पानी से भरे हुए है, यहां पम्पसेट भी लगे हुए हैं। पूरे गांव में पाइप लाइन बिछी हुई है। केवल पम्पसेट को चालू कर टंकी से गांव में सप्लाई देने में पंचायत सफल नहीं हो पा रही है। ग्रामीणों ने बताया गया कि दो माह पूर्व ही लीकेज पाइप लाइन को हटा कर नई डाल दी गई है। फिर भी ग्राम पंचायत समय पर पानी सप्लाई नहीं कर रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम पंचायत जानबूझ कर ग्रामीणों को परेशान कर रही है। ग्रामीणों ने पंचायत व पंचायत समिति प्रशासन से जनता जल योजना को सुचारू रूप से चालू करवाने की मांग की हैं ।

इनका कहना
जिस स्रोतों से ग्रामीण पानी लाते थे, वे बहुत दूर है। महिलाओं को कुंए से पानी खींचकर निकालना पड़ता है। इससे भय बना रहता है।

वगतराम, ग्रामीण

अभी कुछ माह पूर्व एक-दो लाख की लागत से लाइन की मरम्मत कराई थी, लेकिन ग्रामीणों को इसका लाभ नहीं मिला।
भंवर सिंह झाला, ग्रामीण

अभी कुछ माह पूर्व पाइप लाइन डाली थी। लेकिन आगे से ओर लीकेज हो जाने से पानी सप्लाई नहीं हो पा रही है। आचार संहिता खत्म हो जाने के बाद ठीक करवाते है।
कपिल जाटव, ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत बाठेरडा खुर्द

Pankaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned