scriptWarning of protest by blocking the road if Hitendra's body does not ar | Hitendra's Death News हितेंद्र का शव नहीं आने पर सड़क जाम कर प्रदर्शन की चेतावनी | Patrika News

Hitendra's Death News हितेंद्र का शव नहीं आने पर सड़क जाम कर प्रदर्शन की चेतावनी

गुजरात व राजस्थान के गरासिया समाज की बैठक में आक्रोशित हुए समाजजन

उदयपुर

Updated: January 11, 2022 01:03:55 am

उदयपुर. खेरवाड़ा क्षेत्र के युवक हितेन्द्र गरासिया की रूस में 6 माह पूर्व मौत होने के बाद अभी तक भी शव मिलने से समाज में नाराजगी बढ़ती जा रही है। परिजनों के दर-दर भटकने के बाद गरासिया समाज के लोगों ने मृतक के घर एकत्रित होकर आक्रोश व्यक्त किया। साथ ही सरकार को चेतावनी दी गई।
जानकारी के अनुसार सोमवार को खेरवाड़ा उपखण्ड के ग्राम पंचायत करावाड़ा के मृतक हितेंद्र के घर गोडवा में गुजरात व राजस्थान के गरासिया समाज के लोग एकत्र हुए। यहां समाज की वार्ता के बाद मृतक का शव भारत नहीं भेजने पर रोष व्यक्त करते हुए एक स्वर में आने वाले सात दिन में राणी-छाणी मार्ग को जाम कर उग्र प्रदर्शन व अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी। गरासिया समाज अध्यक्ष शकंरलाल गरासिया ने बताया कि परिजन द्वारा लम्बे समय से सरकार व विदेश मंत्रालय से शव को भारत लाने के लिए दर-दर भटक रहे हैं। समाज अध्यक्ष ने बताया कि गुजरात व राजस्थान सहित अन्य राज्य के गरासिया समाज के पदाधिकारियों को भी सूचना भेज कर सहयोग व अपने-अपने स्तर से प्रदर्शन करने की मांग रखी है। राजस्थान सहित अन्य राज्यों में भी गरासिया समाज द्वारा शव को भारत नहीं लाने पर प्रदर्शन किया जाएगा। वहीं हितेन्द्र को रसिया ले जाने वाले युवक पटेल समाज का होने से पटेल समाज शाखा के अध्यक्ष को पत्र लिखकर 7 दिन में रूस में मौजूद पटेल समाज के युवक के साथ मौत के कारणों को पता कर जवाब देने को कहा गया। गरासिया समाज के प्रतिनिधि पटेल समाज के अध्यक्ष के पास जाकर वास्तविक कारणों की जानकारी समाज स्तर पर लेकर पुन: गरासिया समाज को अगवत करवाने का आग्रह किया गया। समाज अध्यक्ष शकंरलाल गरासिया, समाज संरक्षक रूपाजी गरासिया, विरेन्द्रसिंह गरासिया, सचिव विरेन्द्र गरासिया, सह सचिव सुरजी भाई गरासिया, करावाड़ा पूर्व सरपंच कमलेश गरासिया, बाबूलाल गरासिया सहित समाज के सैकड़ों लोग मौजूद थे।
प्रदर्शन को लेकर दिया ज्ञापन
प्रदर्शन करने को लेकर समाज के जनप्रतिनिधियों द्वारा पहाड़ा थानाधिकारी नागेन्द्रसिंह को मुख्यमंत्री, जिला कलक्टर उदयपुर, पुलिस अधीक्षक उदयपुर, वृत्ताधिकारी ऋषभदेव, उपखण्ड़ अधिकारी खेरवाडा, थानाधिकारी पहाड़ा के नाम ज्ञापन देकर 7 दिन में शव भारत नहीं लाया गया तो रोड जाम करने की चेतावनी दी गईं।
Warning of protest by blocking the road if Hitendra's body does not ar
हितेंद्र का शव नहीं आने पर सड़क जाम कर प्रदर्शन की चेतावनी
विदेश मंत्रालय ने छह दिन तक छिपाई हितेंद्र की मौत की सूचना
उदयपुर. रूस में छह माह पहले हितेंद्र गरासिया की मौत के मामले में भारतीय विदेश मंत्रालय की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जहां एक और केंद्र सरकार अभी तक हाइकोर्ट में हितेंद्र के शव को रूस में दफनाने की तिथि बताने से बच रही है, वहीं हितेंद्र की मृत्यु के बाद विदेश मंत्रालय की ओर से मृत्यु की सूचना को छह दिन तक परिजनों से छिपाने का मामला सामने आया है।
विदेश मंत्रालय की लापरवाही सामने आने के बाद रूस में हितेंद्र की मौत का रहस्य गहरा गया है। विदेश मंत्रालय की ओर से 17 अगस्त को परिजनों को मौत की सूचना भिजवाने के बाद मंत्रालय ने आधिकारिक रूप से कहा था कि रूस सरकार की ओर से भारतीय दूतावास को हितेंद्र गरासिया की मौत की सूचना 16 अगस्त को मिली और उसके तत्काल बाद 17 अगस्त को परिजनों को सूचित कर दिया गया।
जोधपुर हाइकोर्ट की ओर से केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा करने के बाद विदेश मंत्रालय के यूरेशिया प्रभाग की ओर से जारी पत्र में भारतीय दूतावास को रूस सरकार की ओर से हितेंद्र की मौत की सूचना 11 अगस्त को ही मिलने की बात कही गई। विदेश मंत्रालय के पत्र से सामने आया है कि 11 अगस्त से 16 अगस्त तक रूस स्थित भारतीय दूतावास और विदेश मंत्रालय ने हितेंद्र की मौत की सूचना छिपाए रखी।
परिजनों की याचिका पर हाइकोर्ट जोधपुर की केंद्र सरकार को फटकार और समाजसेवी चर्मेश शर्मा की विदेश मंत्री व विदेश सचिव के विरुद्ध राष्ट्रपति को शिकायत पर कार्रवाई के आदेश से विदेश मंत्रालय में खलबली मच गई है।
दफनाए शव को निकालकर भारत लाने का संघर्ष अब भी जारी है। कोविड लहर के बाद हितेंद्र गरासिया के पुत्र पीयूष गरासिया ने बूंदी के चर्मेश शर्मा के साथ नई दिल्ली में संघर्ष की कमान संभाल ली है। वहीं आपसी चर्चा के बाद हितेंद्र गरासिया की पत्नी आशा, पुत्री उर्वशी, मोहनलाल उदयपुर लौट गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

क्या सच में बुझा दी गई अमर जवान ज्योति? केंद्र सरकार ने दिया जवाबVideo: बॉम्बे हाई कोर्ट के जज के चैंबर में मिला 5 फीट लंबा सांप, वन विभाग की टीम ने किया रेस्क्यूदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारUP Assembly Elections 2022 : एकाएक राजनीति में उतरकर इन महिलाओं ने सबको चौंकाया, बटोरी सुर्खियांभारत के इलेक्ट्रिक वाहन बाजार में Adani Group की हो सकती है धमाकेदार एंट्री, कंपनी ने ट्रेडमार्क किया दायरशहीद हेमू कालाणी: आज भी हैं युवा वर्ग के लिए आदर्शपश्चिम बंगाल में टीबी के मरीजों की संख्या पहले से तीन गुना अधिकअब राजसमंद संसदीय क्षेत्र में होगा कई ट्रेनों का ठहराव, दीया कुमारी कर रही थी डिमांड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.