नाथद्वारा सहित प्रदेश की सात निकायों में प्यास बुझाने का जिम्मा तो दे दिया पर इंजीनियर नहीं

यूडीएच ने जलदाय विभाग को लिखा पत्र

उदयपुर. प्रदेश की सात निकायों में पीने का पानी पिलाने को लेकर जलदाय विभाग के पास इंजीनियर ही नहीं है। वहां जलापूर्ति को लेकर कई समस्याएं आ रही है। प्रदेश के स्वायत्त शासन विभाग ने जलदाय विभाग से कहा कि इन निकायों में जल्दी से जल्दी से इंजीनियरों को लगाया जाए ताकि जलापूर्ति का प्रबंधन बेहतर किया जा सके और उसकी नियमित समीक्षा की जाए। प्रदेश की निकाय जैसलमेर, श्रीगंगानगर, करौली, बूंदी, नोखा, चौमूं, नाथद्वारा व नागौर में सरकार ने पेयजल योजनाओं का संचालन एवं संधारण संबंधित शहरी निकाय को स्थानंतरित कर दी और वहां निकायों ने इस कार्य को शुरू भी कर दिया लेकिन जलदाय विभाग के इंजीनियर नहीं होने से वहां परेशानियां हो रही है।

सीएस की वीसी में भी उठा मामला
इन निकायों में जलापूर्ति को लेकर हो रही समस्याओं का मामला मुख्य सचिव (वीसी) की में भी उठाया गया। जैसलमेर व नागौर जिला कलक्टर ने मुख्य सचिव को अवगत कराते हुए निकाय की समस्याएं रखी।

जलदाय विभाग रिक्त पदों को भरे
स्वायत्त शासन विभाग के शासन सचिव भवानी सिंह देथा ने जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के प्रमुख शासन सचिव संदीप वर्मा को पत्र लिखकर इन निकायों की समस्याएं रखते हुए वहां पर अभियंताओं के रिक्त पदों को भरने को कहा।

निकायों की स्थिति
निकाय... जिला... पदनाम... स्वीकृत पद... रिक्त पद
नाथद्वारा... राजसमंद ... कनिष्ठ अभियंता... 01... 01
श्रीगंगानगर... श्रीगंगानगर... कनिष्ठ अभियंता... 06... 05
बूंदी... बूंदी... कनिष्ठ अभियंता... 03... 03
नोखा... बीकानेर... कनिष्ठ अभियंता... 03... 02
चौंमू... जयपुर... सहायक अभियंता...01... 01
नागौर... नागौर... कनिष्ठ अभियंता... 02... 02
जैसलमेर... जैसलमेर... सहायक अभियंता...01... 01
जैसलमेर... जैसलमेर... कनिष्ठ अभियंता...03... 01

Show More
Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned