WEATHER @UDAIPUR: न्यूनतम तापमान लुढ़का, रिमझिम के बीच शहर में सर्दी का अहसास हुआ तेज

WEATHER @UDAIPUR: न्यूनतम तापमान लुढ़का, रिमझिम के बीच शहर में सर्दी का अहसास हुआ तेज

Dhirendra Kumar Joshi | Updated: 05 Dec 2017, 10:30:16 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर. अरब समुद्र से शुरू होकर गुजरात के तट पर पहुंचे चक्रवात ओखी का असर सोमवार को झीलों की नगरी पर भी दिखा।

उदयपुर . अरब समुद्र से शुरू होकर गुजरात के तट पर पहुंचे चक्रवात ओखी का असर सोमवार को झीलों की नगरी पर भी दिखा। एकाएक मौसम पलटा, सुबह से सूर्य बादलों की ओट में रहा और सर्द हवा से ठिठुरन व गलन का अहसास बढ़ गया। दोपहर में भी लोगों को सर्दी से बचने के जतन करते दिखे। सुबह और शाम के समय जबर्दस्त गलन से छोटे बच्चों से लेकर बड़े तक परेशान रहे। सोमवार को उदयपुर का अधिकतम तापमान 22.4 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 11.0 डिग्री रहा।

 


दिन भर से बादलों के छाए रहने से सर्दी का असर बढ़ गया, कुछ समय के लिए सूर्य देवता के दर्शन हुए, लेकिन दिन भर घने बादल छाए रहे। धूप नहीं निकलने से सर्दी का असर दिनभर रहा। लोग सुबह और शाम के अलावा दिन भर भी गर्म कपड़े पहने हुए थे। न्यूनतम तापमान 11 डिग्री रहने से सुबह और शाम को ठिठुरन भरी सर्दी रही। कॉलेज-स्कूलों पर भी गलन का असर दिखने को मिला।

 


सुबह छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जाते समय गलन व सर्द हवा से बेहाल रहे। स्कूली बच्चों को सर्दी से बचने के लिए पूरे जतन अभिभावकों ने किए। कॉलेजों में भी छात्र-छात्राएं गर्म कपड़े पहने हुए आए तथा सर्दी में क्लासों की बजाय विद्यार्थी चाय की थड़ी और कैन्टिन में चाय की चुस्कियां लेते देखे गए। सूरजपोल पर कंबल बेचने आए मध्यप्रदेश गोपाल चूंडावत का कहना है कि पिछले दिनों की अपेक्षा सोमवार को कंबल की बिक्री भी एकाएक बढ़ी। मंगलवार सुबह कई जगह हल्की बूंदा बांदी भी शुरू हो गयी जिससे सर्दी का एहसास और बढ़ गया।

 

READ MORE: PICS: उदयपुर में मौसम ने बढ़ाई ठिठुरन, सर्दी से बचाव करते दिखे लोग, देखें तस्वीरें


ये भी पढ़ें- बडग़ांव-चिकलवास रोड पर मेवाड़ बोटलिंग फैक्ट्री से आगे सोमवार सुबह एक बेकाबू कार मोटरसाइकिल सवार दम्पती को चपेट में लेते हुए सडक़ किनारे फूल बेचने वालों की टापरियों में घुस गई। हादसे में बाइक सवार अधेड़ की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं उसकी पत्नी एवं टापरी में बैठे मां-बेटे घायल हो गए। दुर्घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने स्पीड बे्रकर बनाने की मांग को लेकर रोड जाम कर प्रदर्शन किया। पुलिस अधिकारियों ने समझाइश कर मार्ग खुलवाया।
राठौड़ा का गुड़ा (सुखेर) निवासी भंवरलाल (50) पुत्र मोड़ाजी गायरी व उसकी पत्नी देऊबाई (45) शहर में बागवानी व मजदूरी का काम करने के लिए बाइक पर आ रहे थे। करीब 7.15 बजे वे चिकलवास में मालियों का नोहरा के निकट पहुंचे, तभी सामने से तेज गति से आई एक कार उन्हें चपेट में लेते हुए सडक़ के किनारे बनी टापरी में घुस गई। भंवरलाल बाइक के साथ काफी दूर तक घसीट गया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। उसकी पत्नी देऊबाई के सिर व शरीर पर गंभीर चोट आई हैं। हादसे में टापरी में मौजूद श्यामूदेवी व उसके पुत्र प्रेमचंद व पुष्कर माली भी घायल हो गए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned