सितम्बर में सर्दी, जुकाम का 'प्रहार, अक्टूबर में भी मरीजों की भरमार

- एमबी के आईएलआई ओपीडी में पहुंचे मरीज

By: bhuvanesh pandya

Published: 20 Nov 2020, 08:38 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल की आईएलआई ओपीडी यानी इन्फ्लूएंजा लाइक इलनेस ओपीडी में पिछले महीनों में सर्वाधिक मरीज सितम्बर व अक्टूबर माह में पहुंचे हैं। इस ओपीडी में खास तौर पर सर्दी, जुकाम, खांसी व सर्दी के कारण बुखार के मरीज जांच के लिए पहुंचते हैं। ये अलग से इसलिए बनाई गई है, क्योंकि कोरोना संक्रमण से मिलते जुलते ही इसके लक्षण होते है, लेकिन ये मरीज कोरोना ग्रस्त नहीं होते।
------

ऐसे पहुंचे मरीज
माह- मरीज

अप्रेल- 1705
मई- 1193

जून-- 440
जुलाई- 1091

अगस्त 1165
सितम्बर- 4692

अक्टूबर- 4500
-----

सबसे कम जून में
आईएलआई में सबसे कम मरीज जून माह में पहुंचे। इसका मुख्य कारण जून में गर्मी अधिक होना है। ऐसे में सर्दी, खांसी, जुकाम के मरीज अपेक्षाकृत कम मिलते हैं, वहीं सर्वाधिक मरीज सितम्बर व अक्टूबर में दर्ज किए गए है। इन दोनों महीनों में मिलाकर नौ हजार से अधिक ( 9192) मरीज पहुंचे हैं। वहीं दूसरी ओर अप्रेल से अगस्त तक पांच माह में इससे करीब आधे यानी करीब 5594 मरीज पहुंचे हैं।

-----
तीन अलग-अलग जगह चली ओपीडी

आईएलआई ओपीडी अब तक तीन अलग-अलग जगह बदल चुकी है। सबसे पहले इसे मार्च में न्यू ओपीडी में खोला गया था, जो कोरोना के लिए शुरुआती दिनों में चलाए गए एसएसबी ब्लॉक के ठीक सामने है। बाद में इसे छह जून को कोविड हॉस्पिटल ईएसआईसी में शिफ्ट कर दिया गया था, जबकि इसे जुलाई में चर्म रोग में लाया गया। फिलहाल ये चर्म रोग विभाग वाले हिस्से में संचालित है।

आईएलआई ओपीडी जरूरी
आईएलआई ओपीडी मरीजों के लिए बेहद जरूरी और फायदेमंद साबित हुई है, क्योंकि आम तौर पर इन दिनों में भी सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार के मरीज ज्यादा सामने आते हें।

डॉ. आरएल सुमन, अधीक्षक एमबी हॉस्पिटल, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned