WORLD MALARIA DAY : गांवों से ज्यादा, शहर में पनप रहे मलेरिया के मच्छर, सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के सर्वे में हुआ खुलासा

सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के प्राणीशास्त्र विभाग की ओर से हाल ही में किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है।

By: madhulika singh

Published: 25 Apr 2018, 07:33 PM IST

उदयपुर . जिले में गांवों की तुलना में शहर में मलेरिया के मच्छर यानी एनाफिलिज ज्यादा पनप रहे हैं। इनमें भी शहर के कुछ क्षेत्रों में इनकी संख्या बहुत ज्यादा है।

सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय के प्राणीशास्त्र विभाग की ओर से हाल ही में किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे में पाया गया है कि शहरी क्षेत्र में प्रति सौ एमएल पानी में औसत 50 लार्वा पाए जाते हैं, जबकि गांवों में यह आंकड़ा 35 से 40 के करीब हैं। ऐसे में शहरी क्षेत्र में रहने वाले लोगों को ज्यादा सर्तकता बरतने की जरूरत है। सर्वे पानी के कुल घनत्व पर आधारित है।

----
इन इलाकों में मिले ज्यादा लार्वा

सर्वे के अनुसार शहर के सुभाषनगर, रामदास कॉलोनी, बेदला, चित्रकूट नगर, फतहपुरा क्षेत्र में मलेरिया के लार्वा ज्यादा है। इससे वहां मलेरिया फैलने की संभावना अन्य क्षेत्रों की तुलना में बढ़ जाती है। जिले में झाड़ोल कोटड़ा, तुलसीदासजी की सराय में सबसे ज्यादा मलेरिया के लार्वा मिले हैं।
----

इन कारणों से पनप रहे मच्छर
सर्वे में पाया कि चाय के खाली कप, नारियल के खोल, टायर में जमा पानी होने से मच्छर ज्यादा पनप रहे हैं। साथ ही खुले गड्ढ़ों, खुली नालियों एवं अन्य स्थानों जहां कम या अधिक मात्रा में पानी जमा होता है। वहां मच्छरों एवं उनके लार्वा का घनत्व काफीी ज्यादा बढ़ गया है।

 

READ MORE : निजी से सरकारी स्कूलों में कितने बच्चे आए, बताओ... सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को देनी होगी रिपोर्ट 


चिकित्सा विभाग व प्राणीशास्त्र विभाग मिलकर करे काम

शहर में मलेरिया के साथ कुछ स्थानों पर डेंगू के लार्वा भी मिले हैं। विभाग के विद्यार्थी हर दो महीने में शहर व गांवों के विभिन्न स्थानों पर सर्वे करने जाते हैं। ऐसे में अगर चिकित्सा विभाग हमारा साथ दे तो मलेरिया को फैलने से रोका जा सकता है। चिकित्सा विभाग में कीट वैज्ञानिकों का अभाव है। ऐसे में सर्वे के आधार पर उन क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग शिविर, जन जागरूकता का कार्य करे तो सफलता मिल सकती है।

- प्रो. आरती प्रसाद, विभागाध्यक्ष, प्राणीशास्त्र, सुविवि

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned