जिंक ने छिपाए विदेश से खरीदे 11 लोडर वाहन

जिंक ने छिपाए विदेश से खरीदे 11 लोडर वाहन
udaipur

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Feb, 03 2016 11:50:00 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

हिन्दुस्तान जिंक ने विदेशों से खरीदे 11 नए लोडर वाहनों को  बिना रजिस्ट्रेशन के अपनी कई खदानों में उतार

उदयपुर।हिन्दुस्तान जिंक ने विदेशों से खरीदे 11 नए लोडर वाहनों को  बिना रजिस्ट्रेशन के अपनी कई खदानों में उतार दिया। इनमें से एक वाहन को मंगलवार रात ट्रेलर से लोड कर अन्य माइंस में ले जाते परिवहन विभाग के उडऩदस्ते ने बलीचा तिराहे पर पकड़ लिया। कागज के अभाव में विभाग ने उसे जब्त कर गोवद्र्धनविलास थाने में खड़ा करवा दिया। वाहन के संबंध में जिंक प्रबंधन ने टैक्स संबंधी  ई-चालान व अन्य दस्तावेज पेश किए। विभाग ने  इनकी जांच की तो वाहन टैक्स की गड़बड़ी व अन्य दस वाहनों की खरीद का भी खुलासा हो गया। विभाग ने पकड़े गए वाहन के टैक्स में 11 लाख रुपए का डिमांड नोटिस तथा अन्य छिपाए गए दस वाहनों के कागज तलब किए हैं। इन वाहनों के कागज मिलने पर विभाग को करीब 1 करोड़ का राजस्व मिलेगा।  जिला परिवहन अधिकारी ललित चौधरी के नेतृत्व में परिवहन निरीक्षक शकील खां और टीम बीती रात बलीचा तिराहे पर वाहनों की जांच कर रहे थे।   पढ़ें जिंक ञ्च पेज 9


 देर रात एक ट्रेलर में लोडर वाहन जाने पर टीम ने उसे रुकवा दिया। टीम ने वाहन संबंधी कागज पूछे तो चालक जवाब नहीं दे पाया। पता चला कि वाहन जिंक का था, जो जावरमाइंस से सिंदेसर खुर्द माइंस जा रहा था।

सफाई देने आए, पोल खोल गए

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि जिंक प्रबंधन ने विदेशों से आयातित वाहनों को कैपिटल गुड्स बताकर आयात शुल्क व राजस्थान वाहन टैक्स बचाने के फेर में 11 वाहन माइंस में उतार दिए। ये वाहन जनवरी में खरीदे गए। जब्त वाहन के कागज जिंक की ओर से पेश किए तो उसमें 26.35 लाख का ई-चालान मौजूद था। मिलान कर जांच की गई तो उसमें 11 लाख रुपए कम जमा करवाने की पुष्टि हुई। विभाग ने तत्काल डिमांड नोटिस थमाया। कागजों की जांच में विभाग को दस अन्य वाहनों की खरीद संबंधी दस्तावेज भी मिल गए। 

पहले भी पत्रिका ने उजागर किया था मामला

राजस्थान पत्रिका ने 24 नवम्बर को 'नियमों के पहिए में जिंक ने अटकाए 10 करोड़Ó खबर प्रकाशित कर कैपिटल गुड्स में लिए वाहनों का खुलासा किया था। इस प्रकरण में भी जिंक प्रबंधन की विदेशों से आयातित वाहनों को कैपिटल गुड्स बताकर टैक्स बचाने के लिए परिवहन विभाग से चल रही खींचतान की जानकारी प्रकाशित की गई थी। इसके बाद दरीबा माइंस में विभाग ने पांच वाहनों को जब्त कर वसूली भी की थी।


सभी वाहनों की कर रहे हैं जांच 

जिला परिवहन अधिकारी ने वाहन को पकड़ा है। अन्य वाहनों के संबंध में जांच की जा रही है। - मन्नालाल रावत, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी


राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned