ग्रेसिम के 150 श्रमिकों ने क्यो किया तीन घंटे तक हंगामा

ग्रेसिम के 150 श्रमिकों ने क्यो किया तीन घंटे तक हंगामा

Lalit Saxena | Publish: Aug, 12 2018 08:01:02 AM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

ग्रेसिम केमिकल डिविजन में कार्य करने वाले करीब 150 ठेका श्रमिकों को उद्योग प्रबंधक ने शनिवार सुबह 8.30 बजे उद्योग गेट पर रोक दिया।

नागदा. ग्रेसिम केमिकल डिविजन में कार्य करने वाले करीब 150 ठेका श्रमिकों को उद्योग प्रबंधक ने शनिवार सुबह 8.30 बजे उद्योग गेट पर रोक दिया।
गुस्साएं श्रमिक गेट के बाहर धरना देकर बैठ गए। यह धरना करीब तीन घंटे तक जारी रहा। इसके बाद ट्रेड यूनियन नेताओं की मैनेजमेंट के साथ बैठक हुई तब जाकर मामला सुलझा और धरने पर बैठे सभी श्रमिकों को काम पर वापस लिया।
दरअसल, रोजाना की तरह शनिवार को जनरल ड्यूटी यानी सुबह 8.30 बजे ठेका श्रमिक उद्योग में काम करने पहुंचे तो उद्योग के सुरक्षाकर्मियों ने तीन ठेकेदारों के करीब 150 ठेका श्रमिकों को गेट पर ही यह कहकर रोक दिया कि उनके कार्य समय में परिर्वतन कर दिया है। अब से सभी श्रमिक एक घंटे देरी से यानी सुबह 8.30 बजे की बजाए सुबह 9.30 से लेकर शाम को 6.30 बजे तक ड्यूटी कर दी है। अचानक मिले इस फरमान के बाद श्रमिक भड़क गए और उन्होंने उक्त फरमान का विरोध करते हुए उद्योग गेट पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। श्रमिकों के विरोध का असर यह हुआ कि उद्योग प्रबंधक ने मामले को शांत करने के लिए ट्रेड यूनियनों के नेताओं के साथ बैठक आयोजित कर अपने निर्णय को वापस लेना पड़ा।
...फिर काम पर लौटे श्रमिक-उद्योग प्रबंधन के निर्णय को लेकर श्रमिकों ने करीब तीन घंटे तक हंगामा करते रहे । करीब 11.30 बजे जब ट्रेड यूनियन के नेता आंनद दीक्षित, एसएन शर्मा, आरएन शर्मा, जितेंद्र रघुवंशी आदि ने गेट पर आकर श्रमिकों को जानकारी दी कि मैनेजमेंट ने जो समय परिर्वतन का निर्णय लिया था, उसे वापस ले लिया है। तब जाकर श्रमिकों ने अपना धरना समाप्त कर काम पर लौटें।
इनका बदला था समय
इन तीन ठेकेदारों के श्रमिकों के समय को बदला था, उनमें पीटीपीएल, राघवेंद्र इंजीनियरिंग, और इस्तीकार ठेका कंपनी शामिल है। उद्योग प्रबंधन का कहना है कि इन तीनों ठेकेदारों के श्रमिकों को एक अन्य प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए लगाया था। इसके लिए समय में कुछ परिवर्तन करना पड़ा था। लेकिन श्रमिकों के विरोध के बाद उद्योग ने अपना निर्णय वापस ले लिया है।
&एक प्रोजेक्ट को लेकर कुछ ठेका श्रमिकों के काम के समय में आंशिक बदलाव किया था। लेकिन श्रमिकों के विरोध को देखते हुए मैनेजमेंट ने अपना निर्णय वापस ले लिया है। सभी श्रमिक रोजाना की तरह ही सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे तक काम करेंगे।
आरसी जांगिड़, जनसंपर्क अधिकारी, केमिकल डिविजन

Ad Block is Banned