नानाखेड़ा की २५ कॉलोनियों के २० हजार लोगों को मिलेगा साफ पानी

पत्रिका बिग इंपेक्ट .... खारे पानी से मिलेगी मुक्ति, तीन करोड़ से पानी की टंकी और ६ करोड़ से डलेगी पाइप लाइन

By: Gopal Bajpai

Published: 04 Jan 2018, 07:05 AM IST

उज्जैन. २० सालों से कठोर पानी की समस्या से जूझ रहे नानाखेड़ा क्षेत्र की २५ से अधिक कॉलोनियों के रहवासियों को पेयजल समस्या अब जल्द मुक्ति मिलेगी। यहां महेश विहार कॉलोनी में करीब ९ करोड़ रुपए से पानी की टंकी और पाइप लाइन डलने का काम होगा। निगम ने टेंडर की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। अगले १० महीने में निर्माण पूरा होने पर लोगों को साफ पानी मुहैया हो सकेगा।
बुधवार को महापौर मीना जोनवाल, विधायक मोहन यादव, पार्षद संतोष यादव व पीएचई अधिकारियों ने नानाखेड़ा क्षेत्र की कॉलोनियों का दौरा किया। यहां इन्होंने टंकी स्थल के लिए कृष्णा पार्क, विद्यापति नगर, महेश विहार का निरीक्षण किया और आखिरकार महेश विहार स्थित बगीचे का चयन किया गया। यहां रहवासियों को बताया गया कि महेश विहार में ३ करोड़ रुपए की लागत से २० मीटर ऊंची ५ लाख गेलन क्षमता वाली टंकी का निर्माण होगा। इससे आसपास की छोटी-बड़ी ५० से अधिक कॉलोनियों को साफ पानी मुहैया होगा। इसके अलावा जिन कॉलोनियों में पाइप लाइन नहीं है वहां ६ करोड़ रुपए से पाइप डाले जाएंगे। पीएचई कार्यपालन यंत्री धर्मेन्द्र वर्मा के अनुसार आने वाले ८ से १० महीने में यह निर्माण पूरे हो जाएंगे। इसके बाद रहवासियों को साफ पानी मिलना शुरू हो जाएगा।

पत्रिका ने उठाई आवाज
पिछले २० सालों से बोरिंग का कठोर पानी (१००० से २५०० टीडीएस) उपयोग करने से नानाखेड़ा क्षेत्र की २५ से अधिक कॉलोनी के रहवासी परेशान थे। यहां हर दूसरे घर में चर्म रोग, कब्जियत, बाल झडऩे की समस्या, लीवर इनफेक्शन, किडनी इनफेक्शन जैसी बीमारी से लोग पीडि़त थे। पत्रिका ने लोगों के दर्द को समझा और इस मुद्दे को उठाया। हर कॉलोनी में ग्राउंड रिपोर्टिंग कर अफसरों के सामने हकीकत बयां की। रहवासी भी पत्रिका के साथ आए और आवाज बुलंद की। इसके बाद हड़कंप मचने पर जिला प्रशासन हरकत में आया और कॉलोनी की सुध लेना पहुंचा।

सालों से टल रहा था मामला
क्षेत्र के रहवासी २० सालों से पीएचई के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराने की कर रहे थे। उनकी समस्या को जिम्मेदारी कभी रुपए की कमी तो कभी तकनीकी वजरह से लटकाते रहे, जबकि क्षेत्र में मुख्य पाइप लाइन सिंहस्थ २०१६ में ही डल चुकी थी। परंतु टंकी नहीं होने तथा कॉलोनियों आंतरिक पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने का लोगों को साफ पानी नहीं मुहैया नहीं करवाया जा रहा था।

लोगों के विरोध पर जागे जनप्रतिनिधि
पेयजल समस्या को लेकर पिछले दिनों नानाखेड़ा क्षेत्र के रहवासियों ने वाहन रैली निकाल कर अपना आक्रोश व्यक्त किया था। लोगों ने विधायक मोहन यादव से नाराजगी जताई थी। इस पर यादव ने आश्वस्त किया था कि जनवरी से टंकी निर्माण व पाइप लाइन डलने का कार्य शुरू होगा। इसके बाद विधायक यादव, महापौर मीना जोनवाल ने सक्रिय होकर क्षेत्र में पेयजल समस्या के समाधान को आगे बढ़े।

 

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned