1400 किलोमीटर साइकिल चलाकर सीधे थाने आया युवक, जानिए क्या है मामला

यदि आप कानून के प्रति संजिदा है तो गिरफ्तारी से पहले पुलिस भी आपका हार-फूलों से सम्मान करेगी...।

By: Manish Gite

Published: 09 Oct 2020, 07:30 PM IST

 

उज्जैन। कानून के प्रति कुछ लोग इतने संजिदा होते हैं कि वे अपने कष्टों को भी नहीं देखते हैं। बिहार में रहने वाले एक शख्स को जैसे ही पता चला कि उज्जैन के एक थाने से उसके नाम का वारंट निकला है तो वो अपने कष्टों की परवाह किए बगैर 1400 किलोमीटर की यात्रा पर साइकिल से ही निकल गया। रास्ते में पैसा नहीं था तो मजदूरी कर खाना खाया और 10 दिन में वो उज्जैन पहुंच गया।

 

यह कहानी है बिहार के सीतामढ़ी के रहने वाले मुकेश पिता रामचंद्र लोहार की। वो बिहार से 1400 किमी साइकिल से उज्जैन के नागझिरी थाने पहुंच गया। जब आला अधिकारियों को पता चला तो सभी ने इस युवक के जज्बे का सम्मान किया और हार माला पहनाकर स्वागत किया।

एएसपी रूपेश कुमार दिव्वेदी ने बताया कि मुकेश लोहार पर वर्ष 2014 में मारपीट के एक मामले में माधवनगर थाने में प्रकरण दर्ज था। बाद में यह प्रकरण नागझिरी में नया थाना खुलने पर वहां पहुंच गया। मुकेश के खिलाफ स्थायी वारंट निकला हुआ था।

 

मुकेश को सूचना दी

पुलिस ने मुकेश का मोबाइल नंबर पता कर उसे सूचना दी। इस पर मुकेश 29 सितंबर को घर से साइकिल लेकर उज्जैन के लिए रवाना हो गया। वो भी कानून का सम्मान करना चाहता था। पैसा नहीं था, इसलिए साइकिल से ही उज्जैन के लिए रवाना हो गया। रास्ते में भूख लगने पर उसने मजदूरी भी की। बुधवार को जब वह साइकिल से थाने पहुंचा तो पुलिसकर्मी भी हैरान रह गए। कानून के प्रति उसके समर्पण को देखते हुए थाने पर ही पुलिसकर्मियों ने पूल माला पहनाकर उसका स्वागत किया।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned