डॉक्टर का बेटा बेचता है नकली घी, खुश होकर कार्रवाई करने वाले कलेक्टर को मंत्री ने पहनाई माला

डॉक्टर का बेटा बेचता है नकली घी, खुश होकर कार्रवाई करने वाले कलेक्टर को मंत्री ने पहनाई माला

Muneshwar Kumar | Updated: 02 Aug 2019, 03:57:56 PM (IST) Ujjain, Ujjain, Madhya Pradesh, India

adulterated ghee: उज्जैन में डॉक्टर का बेटा निकला नकली घी का कारोबारी, मंत्री ने कहा- किसी को मत छोड़ना

उज्जैन. मिलवाटखोरों के खिलाफ मध्यप्रदेश में कार्रवाई जारी है। मध्यप्रदेश के उज्जैन में भी मिलवाटी घी ( Adulterated ghee ) बेचने वाले एक सख्स पर कार्रवाई की है। आरोपी शहर के एक डॉक्टर का बेटा है। पहली बार प्रदेश में मिलावटखोरी करने वाले किसी सख्स पर रासुका ( National Security Act ) लगाया गया है। कार्रवाई करने वाले डीएम को मंत्री तुलसी सिलावट ने सम्मानित किया है।

 

दरअसल, उज्जैन में गुरुवार को पुलिस ने खाद्य विभाग की टीम के साथ नकली घी तैयार करने वाले कीर्तिवर्धन केलकर ( Kirti Kelkar ) को तड़के घर से गिरफ्तार किया। आरोपी कीर्तिवर्धन को कोर्ट के आदेश पर इंदौर सेंट्रल जेल भेज दिया। उसे तीन महीने की सजा हुई है। खाद्य विभाग की टीम ने केलकर के कारखाने से450 किलो वनस्पति घी, 102 बोतल शॉर्टनिंग और 4 लीटर शुद्ध घी की खुशबू वाला एसेंस पकड़ा है। केलकर परिवार संघ से जुड़ा है।

adulterated ghee

 

रात में पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार
नकली घी के कारोबार में फंसे कीर्तिवर्धन केलकर को पकड़ने में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने बुधवार रात डेढ़ बजे घर पहुंची पुलिस को कीर्तिवर्धन के पिता डॉक्टर गणेश केलकर ने रोके रखा। उनका कहना था कि ऐसा क्या हो गया कि इतनी रात को मेरे बेटे को लेने आए। इस बीच पुलिस और डॉ केलकर के बीच बहस हुई। आखिरकार पुलिस को समझाने पर वे अपने बेटे को बुलाने पर राजी हुए। जैसे ही कीर्तिवर्धन आया पुलिस उसे गाड़ी में बैठाकर थाने ले आई और बताया कि आपको राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है।

इसे भी पढ़ें: Sawan: मंदिर में भगवान शिव की भक्ति में लीन था नाग, पुजारी के आने के बाद भी फन उठाए डटा रहा

 

लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़
उज्जैन के कलेक्टर शशांक मिश्र ने कहा कि जनस्वास्थ्य से खिलवाड़ करना गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है। ऐसे तत्वों में नियमों के प्रति भय रहे और ऐसी प्रवृतियां रुके, इसके लिए रासुका की कार्रवाई की गई है। राज्य सरकार ने भी इस संबंध में निर्देश दे रखे हैं।

इसे भी पढ़ें: Zomato: धर्म के चक्कर में फंसा जोमैटो, कुछ लोग ऐसे सिखा रहे हैं सबक!

 

मंत्री ने किया सम्मानित
वहीं, इस कार्रवाई में डीएम शशांक मिश्रा ने अहम भूमिका निभाई है। इस कार्रवाई से खुश होकर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने उज्जैन डीएम शशांक मिश्रा को सम्मानित भी किया। गुरुवार को ही उन्होंने डीएम शशांक मिश्रा को माला पहनाई। इस दौरान उज्जैन एसपी सचिन अतुलकर भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें: नकली घी बनाने वाले के घर रात डेढ़ बजे धमकी पुलिस...

 

धंधा छोड़ें
मंत्री तुलसी सिलावट ने पत्रिका से बातचीत करते हुए कहा कि मिलावटखोर या तो अपना धंधा छोड़े या फिर मध्यप्रदेश। हम प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे। सरकार के साथ सारी मशनरी मिलावटखोरों पर कड़ी कार्रवाई कर रही है। सिलावट अधिकारियों से बोले कि कोई भी बोले तो दबाव में ना आना, यदि मैं भी कहूं तो मिलावटियों को मत छोड़ना।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned