video : पद्मावत का विरोध, शहर बंद कराने सड़कों पर उतरे कार्यकर्ता

अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा, राजपूत करणी सेना व समस्त हिन्दू संघटन के तत्वावधान में गुरुवार को उज्जैन बंद का आह्वान किया गया।

By: Lalit Saxena

Published: 25 Jan 2018, 12:10 PM IST

उज्जैन. अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा, राजपूत करणी सेना व समस्त हिन्दू संघटन के तत्वावधान में गुरुवार को उज्जैन बंद का आह्वान किया गया। शांतिपूर्ण तरीके से सभी रैली के रूप में निकले। बंद को व्यापारियों का भी समर्थन मिला। लगभग सभी दुकानें बंद हैं।

सिनेमाघरों तक पहुंचे कार्यकर्ता
श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना व अन्य संगठनों ने फिल्म पद्मावत के विरोध में बंद का एेलान किया। उज्जैन जिले में सिनेमाघरों में फिल्म का प्रदर्शन नहीं किया जाए, इसके लिए कार्यकर्ता वहां पहुंचे। विरोध जताने वाले सभी संगठन एकजुट होकर बंद कराने व फिल्म बेन करने की मांग को लेकर सड़क पर उतरे हैं। हालांकि सभी संगठनों द्वारा फिलहाल बंद के साथ ही शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं पुलिस ने भी सुरक्षा की दृष्टि से अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया है। जिले में सक्रिय पुलिस की नजर असामाजिक तत्वों पर है, जो लोग प्रदर्शन की आड़ में माहौल बिगडऩे की कोशिश करेंगे उन्हें पुलिस अपने तरीके से समझाएगी।

पीवीआर में भी नहीं लगी फिल्म
उज्जैन पीवीआर के मैनेजर शैलेंद चौहान ने कहा था कि गुरुवार को उज्जैन में फिल्म का प्रसारण नहीं किया जाएगा। फिल्म का विरोध सबसे ज्यादा पीवीआर पर होने की आशंका है। इसके चलते पुलिस ने इन क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी है। हालांकि कुछ प्रदर्शनकारी फिल्म बंद होने के चलते भीड़ लेकर वहां पहुंचे।

कहीं खुले, तो कहीं बंद रहे स्कूल
संगठनों ने अस्पताल, स्कूल व अन्य जरूरी सेवाओं को बंद से दूर रखने की घोषणा की है। वहीं बंद के चलते कुछ स्कूल प्रबंधकों ने भी पहले से ही अघोषित अवकाश का सूचना भेज दी थी। गुरुवार को कहीं खुले तो कहीं बंद रहे स्कूल।

तीन जगहों पर विरोध-प्रदर्शन
पद्मावत फिल्म के विरोध में अखिल भारतीय हिंदू महासभा एवं मध्यप्रदेश युवा शिवसेना गोरक्षा न्यास की ओर से उज्जैन जिले में तीन जगहों पर फिल्म निर्माता संजय भंसाली का पुतला बम से उड़ाया जाएगा। सुबह 11 बजे प्रदेश कार्यकारिणी अध्यक्ष मुरली निगम के नेतृत्व में तराना में, 11.30 बजे नागदा में गोरक्षा न्यास के जिला अध्यक्ष अनुज दासवाणी व 12 बजे उज्जैन में मनीषसिंह चौहान की अगुवाई में बम से पुतला उड़ाया जाएगा।

पद्मावत के विरोध में जौहर करने चित्तौड़ पहुंची उज्जैन की क्षत्राणियां
फिल्म पद्मावत के विरोध में श्री राजपूत करणी सेना की उज्जैन शहर की क्षत्राणियां जौहर करने के लिए चित्तौडग़ढ़ पहुंच गई हैं। प्रदेश अध्यक्ष उर्मिलासिंह तोमर के साथ जिला अध्यक्ष प्रियंका तोमर, नेहा जादौन सहित कई क्षत्राणियां चित्तौड़ में जौहर करने पहुंची हैं। तोमर के अनुसार फिल्म लगी तो हम सभी क्षत्राणियां एक बार फिर इतिहास दोहराएंगी और पद्मावती मां के सम्मान में जौहर कर धधकती ज्वाला में कूदकर जान दे देंगी।

पेट्रोल पंप बंद रहे
उज्जैन बंद की घोषणा के चलते सभी पेट्रोल पंप सुबह ८ से १२ बजे तक बंद रहे। उज्जैन पेट्रोल पंप एसोसिएशन ने बंद के दौरान तनावपूर्ण स्थिति निर्मित नहीं होने से बचने के लिए पहले ही घोषणा कर दी थी।

पद्मावत के विरोध में नागदा बंद
नागदा. फिल्म पदमावत के विरोध को लेकर देशभर में करणी सेना द्वारा विरोध किया जा रहा है। फिल्म में राजपूत समाज की भावनाओं को आहत किया जा रहा है। साथ ही रानी पदमावती के बारे में फिल्म पदमावत में गलत तरीके से पेश किए जाने से राजपूत करणी सेना सदस्यों में रोष व्याप्त है। विरोधस्वरूप करणी सेना की अगुवाई में गुरुवार को नागदा बंद रहा। बंद का आह्वन अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की अगुवाई में किया जा रहा है। बंद को सफल बनाने में अ.भा. क्षत्रिय महासभा के भेरूसिंह चौहान, हेमलता तोमर, जीवनसिंह तंवर, राजेन्द्रसिंह झाला, भगवानसिंह डोडिया, जीवनसिंह पंवार, बजरंग सिंह चौहान आदि जुटे रहे।

विरोध में करणी सेना को मिला शिवसेना का समर्थन
खाचरौद. सम्पूर्ण प्रदेश में फिल्म पद्मावत के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग कर रही राजपूत करणी सेना का समर्थन शिवसेना द्वारा किया गया। शिवसेना ग्रामीण संभाग प्रमुख कृष्णदास वैष्णव द्वारा बताया कि कई बार सेंसर बोर्ड द्वारा कई ऐसी फिल्म दिखाने की स्वीकृति प्रदान कर दी जाती है जिससे जाति या हिन्दुओं की भावना को ठेस पहुंचती हैं। शिवसेना द्वारा उक्त मामले में करणी सेना का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उक्त मामले में हस्तक्षेप करते हुए हिन्दू भाइयों की भावना को ठेस ना पहुंचे इस हेतु उचित कार्यवाही की मांग की हैं। इस अवसर पर मुन्नालाल पाटीदार, राधेश्याम नायमा, राधेश्याम किलोरिया, जितेन्द्र चतुर्वेदी उपस्थित थे।

ज्ञापन देकर किया विरोध
घट्टिया. नजरपुर बस स्टैंड पर सर्व समाज द्वारा फिल्म पद्मावत का विरोध किया एवं सभी लोगों से फिल्म को देखने से मना किया साथ ही सभी शासकीय एवं निजी विद्यालयों के प्रमुखों को भी ज्ञापन देकर निवेदन किया कि सांस्कृतिक कार्यक्रम में घूमर गाने को प्रतिबंधित करे। ज्ञापन देने वालों में देवराजसिंह, राजपालसिंह, शिवराजसिंह केलवा, लोकेन्द्रसिंह, सूरजपालसिंह, शैलेन्द्र प्रधान, रितेश मौर्य एवं हिन्दू संगठन के कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

माकड़ौन में भी किया विरोध
माकड़ौन. ग्राम कपेली में करणी सेना द्वारा फिल्म पद्मावत का विरोध किया। करणी सेना के नगर अध्यक्ष कमलसिंह पवार के नेतृत्व में मां सती माता मंदिर पर राजपूत समाज के राजपूत सरदार एकत्रित हुए तथा मां सती की पूजा अर्चना की गई व पद्मावत रिलीज करने का विरोध किया गया। विरोध प्रदर्शन में नगर अध्यक्ष राजपूत करणी सेना के कमलसिंह पवार, जितेंद्र बना, पिंटू बना, चेतन बना, विजेंद्र बना, नरेंद्र बना, योगपाल बना, लाला बना, वीरेंद्रसिंह तथा सभी राजपूत मौजूद थे।

फिल्म के विरोध मेें बंद को दिया समर्थन
शाजापुर. सुप्रीम कोर्ट के पद्मावत फिल्म से प्रतिबंध हटाए जाने के बाद गुरुवार को देशभर में फिल्म रिलीज हो रही है। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना शुरुआत से ही फिल्म का विरोध कर रही है। जहां पूरे प्रदेश में अंतिम चेतावनी रैली निकाली गई, वहीं बंद का भी आह्वान किया गया। ऐसे में गुरुवार को सेना की ओर से प्रदेश के साथ शाजापुर को भी बंद रखा है।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned