scriptAhmedabad blast case: Safdar Nagori used to study in this government s | Ahmedabad blast case: मालवा के इस सरकारी स्कूल में पढ़ता था सफदर नागौरी | Patrika News

Ahmedabad blast case: मालवा के इस सरकारी स्कूल में पढ़ता था सफदर नागौरी

- औद्योगिक क्षेत्र होने से फरारी काटने इस क्षेत्र को सुरक्षित स्थान समझते थे सिमी के आतंकी

उज्जैन

Published: February 20, 2022 01:15:33 pm

नागदा. अहमदाबाद ब्लॉस्ट कांड में मृत्युदंड पाने वाले महिदपुर निवासी सफदर नागौरी का नागदा से भी नाता रहा है। सिमी (स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर रह चुका सफदर पांचवी नागदा के एक सरकारी स्कूल में पढ़ा है। उज्जैन में एएसआई रहे सफदर के पिता घेरू खान नागदा मंडी थाने में भी आरक्षक के पद पर पदस्थ रह चुके थे। इसके बाद यह परिवार महिदपुर शिफ्ट हो गया था। क्षेत्र में सिमी की गतिविधियों पर काम कर चुके जानकार बताते हैं कि 25 अप्रैल 1977 में सिमी का गठन वर्ग विशेष के युवाओं को शिक्षा से जोडऩे के लिए किया गया था। कुछ समय इस पर अमल भी हुआ, लेकिन सफदर के हाथ में सिमी की कमान आने के बाद इसके उद्देश्य बदल दिए गए। धीरे-धीरे इस संगठन ने आतंकी संगठनों के लिए मुखबीरी करना शुरू कर दी। वर्ष 2001 में इस संगठन पर पहली बार प्रतिबंध लगने के बाद सिमी ने हथियार उठा लिए। सफदर के साथ इस गतिविधि में उन्हेल थाना क्षेत्र का आमिल परवेज भी शामिल था।

Ahmedabad serial blast: खंडवा रोड पर दे रहे थे ब्लास्ट की ट्रेनिंग सिमी के यह गुर्गे
Ahmedabad serial blast: खंडवा रोड पर दे रहे थे ब्लास्ट की ट्रेनिंग सिमी के यह गुर्गे

विहिप नेता पर गोलीकांड से पहले उन्हेल क्षेत्र में ट्रेनिंग कैंप चले है
क्षेत्र में सिमी की गतिविधियों पर काम कर चुके पूर्व पत्रकार व वर्तमान सांसद प्रतिनिधि प्रकाश जैन सिमी पर द ट्रूथ ऑफ सिमी नाम से किताब भी लिख रहे हैं। जैन बताते हैं कि 27 मई 2011 में विहिप नेता भेरूलाल टांक के साथ हुए गोलीकांड से पहले वर्ष 2008 में उन्हेल क्षेत्र में सिमी के ट्रेनिंग कैंप भी चले है। जैन के अनुसार क्षेत्र में सिमी की गतिविधियां संचालित होने के समय देश-प्रदेश के दूसरे शहरों में वारदातों को अंजाम देने के बाद सिमी के आतंकी फरारी काटने के लिए नागदा को सुरक्षित स्थान मानते थे। कारण- नागदा औद्योगिक क्षेत्र होने से हर प्रांत के लोग निवास करते थे। इस वजह से सिमी के आतंकियों की इतनी आसानी से पहचान नहीं हो पाती थी। मगर 11 साल पहले विहिप नेता के साथ हुए गोलीकांड व रतलाम में एटीएस जवान की मौत के बाद क्षेत्र में संचालित सिमी की गतिविधियों का पर्दाफाश हो गया। जिससे फरारी काटने के लिए का उनका यह स्थान काफी प्रभावित हुआ। नागदा में सिमी का पहला कार्यकर्ता सियाउद्दीन आगवान था। जिसकी मौत हो चुकी है।

अभी क्षेत्र में सिमी एक्टिव नहीं, लेकिन तीन कार्यकर्ता है
विहिप नेता के साथ हुए गोलीकांड के बाद क्षेत्र में सिमी की गतिविधियों पर धीरे-धीरे विराम लगने लगा। अभी सिमी एक्टिव नहीं है, लेकिन शहर में तीन कार्यकर्ता है। जिन्हें पुलिस ने नजरबंद घोषित कर रखा है। पुलिस के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार यह कार्यकर्ता नई कोटा फाटक, बस स्टैंड व चंबल मार्ग के रहने वाले है। सिमी पर किए गए अध्ययन के हवाले से जैन ने बताया कि पुलिस द्वारा सिमी के कार्यकर्ताओं की धरपकड़ शुरू करने से सिमी के कार्यकर्ताओं ने ट्रेन में फरारी काटना शुरू की। सिमी के कार्यकर्ता ट्रेन से एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन घूमते थे, खाने-पीने और सोने का अड्डा ट्रेन ही थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

टाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’गुजरात: निवेशकों से डेढ अरब की धोखाधड़ी कर फरार हुआ कम्पनी मालिक पत्नी सहित गिरफ्तारअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.