उज्जैन का यह आदमी चलती कार में छाप रहा नकली नोट, पुलिस ने कैसे पकड़ा

उज्जैन का यह आदमी चलती कार में छाप रहा नकली नोट, पुलिस ने कैसे पकड़ा

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Sep, 02 2018 07:43:17 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने गिरफ्तार किया मौके पर से, पूरी जांच के लिए आरोपी रिमांड पर

उज्जैन/भीलवाड़ा. चलती कार में नकली नोट छापकर लोगों से ठगी की वारदात में लिप्त दो जनों को पुलिस ने शुक्रवार देर रात रायला थाना क्षेत्र में अजमेर फोर लेन पर दबोच लिया। दोनों के कब्जे से पांच-पांच सौ रुपए के रुपए के नकली नोट बरामद हुए। आरोपियों ने चार हजार रुपए के नकली नोट पकड़े जाने के बाद फाड़ दिए। मामले की जांच कोतवाली पुलिस को सौंपी गई है।

रायला थाना प्रभारी महावीर सिंह ने बताया कि शुक्रवार देर रात थाने के समीप नाकाबंदी कर वाहनों की तलाशी ली जा रही थी। अजमेर से नीमच की ओर जा रही एक लग्जरी कार को रोका गया। कार में प्रिंटर लेकर जा रहे सवार दो लोगों से पूछताछ की गई। उनके कब्जे से पांच-पांच सौ रुपए के 14ु500े नकली नोट बरामद हुए। चार हजार रुपए के नकली फटे नोट सीट के नीचे बि ारे मिले। उज्जैन के महानंदानगर निवासी आलोक ( 32) पुत्र हनुमान मिश्रा तथा उत्तरप्रदेश के फैजाबाद निवासी सुरजीत (27 पुत्र प्रेमचंद यादव को गिरफ्तार कर कार जब्त कर ली गई। कार से प्रिंटर व स्केनर जब्त किया गया। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर मामले की जांच कोतवाली पुलिस को सौंप दी गई।

पहले स्क्रीन करते, फिर छापते
आरोपी पहले पांच सौ रुपए के एक नोट का स्क्रीन करते। इसके बाद रंगीन प्रिंटर से फोटोकॉपी तैयार कर लेते। नकली नोट बनाने के लिए व अलग किस्म का कागज इस्तेमाल करते थे, लेकिन उस कागज की क्वालिटी साधारण स्तर की होती।

शाम ढलने के बाद चलाते नकली नोट

नकली नोट को वो ग्र्रामीण क्षेत्र में चलाते या फिर कमजोर दुकानदार को तलाशते थे। एक नकली नोट देकर पहले सौ रुपए की खरीदारी करते। इसमें सिगरेट के पैकेट, बे्रड, नमकीन के पैकेट व पानी की बोतल खरीदते। नोट के बदले मिलने वाली शेष चार रुपए की राशि उनकी काम की होती। वे सांझ ढलने के बाद ही नकली नोट चलाते।

कार में ही संसाधन
आरोपियों ने खुलासा किया कि वे स्केनर व प्रिंटर कार में ही साथ में ही र ाते थे। जरूरत पडऩे से करीब दस घंटे पहले नकली नोट छाप लेते। आरोपी उतरप्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र के साथ ही राजस्थान के कई हिस्सों में नकली नोट चलाकर जालसाजी व ठगी की वारदात कर चुके हैं। दोनों आरोपी इन दिनों उज्जैन में रह रहे थे।

नोट जाएंगे आरबीआइ अनुसंधान

अधिकारी नरोत्तम सिंह ने बताया कि शनिवार को दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया। पूछताछ एवं नकली नोट बनाने में प्रयुक्त अन्य साधनों की बरामदगी के लिए सात सित बर तक रिमांड पर लिया गया। जब्त नोटों को जांच के लिए भारतीय रिजर्व बैंक भिजवाया जाएगा।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned