महाकाल की शाही सवारी में दिखेगा एट्रोसिटी एक्ट का विरोध, तैयारी पूरी

महाकाल की शाही सवारी में दिखेगा एट्रोसिटी एक्ट का विरोध, तैयारी पूरी

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Sep, 02 2018 08:14:05 PM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

शाही सवारी मार्ग पर सजाक्स ने लगाए बैनर, लाखों लोगों से मांगा समर्थन, घर-घर लग गए पोस्टर, एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में संदेश

उज्जैन. एट्रोसिटी (एससी-एसटी) एक्ट का अजीब विरोध उज्जैन में शुरू हुआ है। सोमवार को शहर में बाबा महाकालेश्वर की शाही सवारी और जन्माष्टमी की धूम रहेगी। लाखों की संख्या में भक्त धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इसी का फायदा उठाने के लिए सपाक्स की तरफ से पूरे मार्ग पर एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में पोस्टर लगा दिए है। इसमें सर्वण वर्ग से एकजुट होने की बात है।

एसट्रोसिटी एक्ट के विरोध अब धीरे-धीरे व्यापक होता जा रहा है। करणी सेना और सपाक्स के अभियान को अब आमजन का समर्थन भी मिलने लगा है। दोनों ही संगठन ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे है। सोमवार को बाबा महाकाल के दर्शन लेने के लिए आने वाले भक्तों को भी एक्ट के विरोध का नजारा देखने को मिलेगा। शाही सवारी के का पूरा मार्ग विरोध पोस्टर से पट चुका है।

यह है पोस्टर में संदेश
पोस्टर में सीधे तौर पर लिखा है कि मैं और मेरा परिवार एट्रोसिटी एक्ट का विरोधी है। हम आर्थिक आधार पर आरक्षण के पक्षधर है। ऐसे विचारों को विरोध करने वाले राजनैतिक दल हम से वोट की अपील व उम्मीद न रखें।

सपाक्स में समर्थन में उतरे लोग
उज्जैन में अभी तक राजनेताओं का विरोध नहीं हुआ है, लेकिन सजाक्स की गतिविधि काफी तेजी से जारी है। समाज के लोग अभियान को हर तरह से समर्थन कर रहे है। टॉवर चौक पर हस्ताक्षर अभियान जारी है। अब शाही सवारी में आने वाले भक्तों तक भी अपनी बात पहुंचाई जा रही है।

कैम्पस में करणी का अभियान
करणी सेना अब आरक्षण विरोधी अभियान को लेकर कैम्पसों में तेजी से सक्रिय हो गई। करणी सेना में काम कर रहे अधिकांश लोग सर्वण समाज के है। वह भी एट्रोसिटी के साथ नोटा अभियान चला रहे है। यह अभियान सोश्यल मीडिया पर भी छाया हुआ है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned