scriptBaba Mahakal: Avantika ready to welcome devotees, tight security arra | बाबा महाकालः भक्तों के स्वागत के लिए अवंतिका तैयार, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम | Patrika News

बाबा महाकालः भक्तों के स्वागत के लिए अवंतिका तैयार, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

साल के आखिरी दिनों में उज्जेन महाकाल मंदिर घूमने देशभर से आ रहे लोग

उज्जैन

Published: December 24, 2021 08:23:42 pm

उज्जैन. कोरोना प्रतिबंध हटने के बाद 6 दिसंबर 2021 से श्रद्धालुओं को गर्भगृह से बाबा महाकाल के दर्शन करवाए जा रहे हैं। ऐसे में मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ नजर आने लगी है। शनिवार, रविवार को तो भक्तों की कतार हरसिद्धि माता मंदिर तक पहुंच रही है। साल के आखिरी है। दिनों में क्रिसमस अवकाश का फायदा लेने के लिए प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में बड़ी संख्या श्रद्धालुओं के आने की संभावना है।

mahkala_ujjain.png

वहीं बाबा के दर्शन कर नववर्ष की शुरुआत करने भी श्रद्धालु उज्जेन पहुंचेंगे। ऐसे में मंदिर प्रबंध समिति, पुलिस, प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। कोराना काल में बड़ा नुकसान झेलने वाले शहर के व्यापारी भी श्रद्धालुओं की आमद से उत्साहित हैं और उन्हें अच्छे व्यापार की उम्मीद है।

ऐसे चमकेगा बाजार
उज्जैन में छोटे-बड़े मिलाकर करीब 250 होटल, लॉज और धर्मशालाएं हैं। होटल संचालक जय सिंह के अनुसार 400 से 5000 रुपए प्रतिदिन के किराए में कमरे उपलब्ध हैं। न्यूनतम 60 रुपए में सात्विक भोजन की थाली उपलब्ध है। ऑटो संचालक गुलरेज के अनुसार देवासगेट बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन से श्रद्धालुओं को न्यूनतम 40 रुपए में मंदिर तक छोड़ा जाता है। रात में नाइट चार्ज लगता है।

यह है मंदिर में प्रवेश ओर दर्शन व्यवस्था

सामान्य दर्शन: आम श्रद्धालु सुबह 4 से रात 11 बजे तक प्रवेश कर सकते हैं। दर्शन में प्रोटोकॉल शुल्क 100 रु. प्रति व्यक्ति है। वीआइपी के लिए 250 रुपए शुल्क है। अब प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लगने के बाद भस्मारती और शयन आरती में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध लग गया है।

भस्म आरती: आम श्रद्धालुओं को ऑफलाइन में सशुल्क प्रवेश दिया जा रहा है। ऑफलाइन आवेदन एक दिन पहले देना होता है। इसका शुल्क प्रति व्यक्ति 200 रुपए है। कोरोना संक्रमण के चलते भस्मारती में प्रवेश बंद कर दिया गया है।

फेसिलिटी सेंटर से प्रवेश: सामान्य दर्शनार्थियों को शंख द्वार, फेसिलिटी सेंटर से प्रवेश दिया जा रहा है। वैक्सीन प्रमाण पत्र व मास्क पहनना तथा सैनिटाइजर अनिवार्य है।

श्रद्धालु मंदिर परिसरः कार्तिकेय मंडपम से रैम्प उतरकर गणेश मंडपम्‌ की बैरिकेडस से नंदी मंडपम होते हुए, नंदी हॉल में प्रवेश करके रैम्प से बाहर निकलेंगे।

गर्भगृह में प्रवेश बंद के दौरान ये व्यवस्था: गर्भगृह में प्रवेश बंद के दौरान 1500 रुपए की रसीद पर 2 श्रद्धालु, लघु रूद्र की रसीद पर 3 और महारुद्र की रसीद पर 5 श्रद्धालुओं को गर्भगृह से दर्शन करने की अनुमति रहेगी। यदि श्रद्धालु परिवार के तीन सदस्यों को गर्भगृह में जल चढ़ाना है, तो उन्हें 1400 की रसीद के अलावा 1000 रुपए एक अतिरिक्त रसीद भी कटवाना होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.