सावधान : कोरोना वायरस का डर बताकर धोखाधड़ी कर रहे बदमाश

उज्जैन पुलिस ने धोखेबाजों से सचेत रहने बंटवाए पर्चे, कहां सरकार ने हाथ धुलवाने के लिए घर पर किसी संगठन या एजेंसी को नहीं भेज रही

उज्जैन। कोरोना वायरस को लेकर एक और जहां लोगों को सावधानी बरतने के लिए जतन किए जा रहे हैं वहीं बदमाश और ठगोरे इसका फायदा उठाने में लगे हुए है। घरों में हाथ धुलवाने के बहाने पहुंच रहे हैं और चोरी व धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम देने की कोशिश कर रहे हैं। घरों में पहुंच रहे ऐसे बदमाशों की सूचना पुलिस के पास भी पहुंची है। इस पर पुलिस ने ऐसे लोगों से सावधान रहने के लिए बकायदा पर्चे बंटवा दिए। इसमें कहा गया है कि सरकार ने किसी व्यक्ति या संगठन को हाथ धुलवाने के लिए नहीं भेजा है। यदि ऐसे कोई लोग आते हैं तो इसकी सूचना पुलिस को दें।
कोरोना वायरस को लेकर प्रशासन की ओर से जागरुक किया जा रहा है। इसकी आड़ में बदमाश धोखाधड़ी की वारदात भी करने लगे है। प्रदेश में ऐसे कुछ मामले सामने भी आए है। जिनमें हाथ धुलवाने के बहाने घर पहुंचे बदमाश पे चोरी यो कोई सामान ठग लिया। ऐसी ही शिकायतें पुलिस के पास ग्रामीण क्षेत्रों से भी मिली है। लिहाजा पुलिस ने ऐसी धोखाधड़ी से बचने के लिए एहतियातन पर्चे बंटवाएं है। खासतौर पर ग्रामीण थानों के नाम से भेजे इस सूचना पत्र में लोगों से अपील की है कि किसी भी संगठन या शासन की ओर से सेनेटाईज हेतु किसी को भी शहर या गांव में नहीं भेजा गया है। इस बात की सावधानी बरते और अपने घर, परिवार एवं मित्रों को सावधान करें, कोई भी व्यक्ति या संगठन आपके घर पहुंच कर कहता है कि घर को स्वच्छ करना है तो दरवाजा न खोले और इसकी सूचना तत्काल नजदिकी थाना क्षेत्र को दें।
तराना, माकड़ोन और कायथा में बंटवाएं पर्चे
हाथ धुलवाने के नाम पर धोखाधड़ी की आशंका के चलते पुलिस ने तराना, माकड़ोन और कायथा क्षेत्रों के पर्चें बंटवाएं है। दरअसल पुलिस का मानना है कि शहरी क्षेत्र में तो लोग जागरुक है ेलेकिन ग्रामीण क्षेत्र में सेनेटाइज के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी की जा सकती है। इसिलिए ग्रामीण क्षेत्र में इस तरह के पर्चे बंटवाएं गए हैं। इन पर्चों में तराना टीआई के साथ माकड़ोन, कायथा और तराना थान के नंबर भी ्रदिए गए हैं।
इस तरह रखे सावधानी
- घरों पर सेनेटाइज करने के लिए किसी व्यक्ति को सरकार ने नियुक्त नहीं किया है।
- कोई व्यक्ति हाथ धुलवाने आता है तो अकेले में उससे कोई पदार्थ हाथ में न लें। परिवार के अन्य लोग भी साथ रखें।
- घर के अंदर सेनेटाइज या स्पे्र करने की बात करें तो उसे इनकार कर दें। या उससे इसके बारे में पुख्ता जानकारी ली।
- घर आने वाले व्यक्ति का आइकार्ड की जांच करें।
- संदिग्ध व्यक्ति लगने पर संबंधित पुलिस स्टेशन या डायल १०० को खबर करें।
इनका कहना ...
कोरोना से लोग डरे हुए हैं। इसका फायदा उठाकर कोई भी व्यक्ति लोगों के घरों तक पहुंच कर स्वच्छ करने के बहाने धोखाधड़ी कर सकता है। प्रदेश में कईं जगह इस तरह के मामले सामने आए हैं। लोगों को जागरुक करने के लिए सूचना पत्र जारी किया गया है।
- रविन्द्र बोयट, एसडीओपी, तराना

जितेंद्र सिंह चौहान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned