scriptBig decision in Madhya Pradesh amid the struggle over Hindi | हिन्दी पर संग्राम के बीच मध्यप्रदेश में बड़ा फैसला | Patrika News

हिन्दी पर संग्राम के बीच मध्यप्रदेश में बड़ा फैसला

दक्षिण मेंं गृहमंत्री के बयान पर विरोध तो मध्य में मुख्यमंत्री के संकल्प पर अमल

उज्जैन

Published: April 09, 2022 01:39:23 pm

उज्जैन. देश के गृहमंत्री अमित शाह के हिन्दी को लेकर दिए गए बयान के बाद दक्षिण के राज्यों में कांग्रेस और उसके सहयोगी विरोध कर रहे हैं, लेकिन देश का हृदय स्थल मध्यप्रदेश एक नई तस्वीर पेश करने जा रहा है। मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में हिन्दू नववर्ष पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने नागरिकों से हिन्दी अपनाने का आव्हान किया था। साथ ही भाषाई एकरूपता के लिए होटल-लॉज और कारोबारी संस्थानों के नाम हिन्दी में दर्शाने की बात रखी थी। अब इस पर उज्जैन प्रशासन और होटल एसोसिएशन ने अपनी मुहर लगाते हुए बड़ा फैसला किया है। एक माह के अंदर उज्जैन के होटल-लॉज और खानपान गृहों के साइन बोर्ड पर हिन्दी में नाम दर्शाने की शुरुआत कर दी जाएगी।

patrika
patrika

400 से ज्यादा होटल-लॉज-धर्मशालाओं पर हिन्दी भाषा का बोर्ड
महाकाल की नगरी उज्जैयिनी अब देश में हिन्दी भाषा की एकरुपता के तौर पर नई पहचान गढऩे जा रही है। यहां पर मार्ग संकेतक, सूचना पटल से लेकर होटलों के नाम तक हिन्दी में लिखे जाएंगे। इसका मकसद यह कि देशभर से आने वाले श्रृद्धालु को शहर में हिन्दी भाषा की एकरूपता नजर आए और राष्ट्रभाषा के प्रति अपनत्व दिख सकें। धार्मिक पर्यटन के केंद्र के रूप में विकसित हो रहे उज्जैन में तेजी से होटल तथा पर्यटन से जुड़ी गतिविधियों में इजाफा हो रहा है। इसी के चलते यहां अब होटलों के नाम हिन्दी में किए जाने की कवायद शुरू की गई है। वर्तमान में महाकाल क्षेत्र में करीब 400 होटल, धर्मशालाएं व लॉज हंै। इनमें कई के नाम अंग्रेजी में लिखे हैं। ऐसे में अब इन सभी होटलों के साइन बोर्ड में अंग्रेजी नाम की जगह हिन्दी में लिखा जाएगा। हिंदी नाम होने से शहर में भाषाई एकता दिखाई देगी और बाहर से आने वाले श्रृद्धालु को भी एक नया संदेश जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने संकल्प लेकर की पहल
हालांकि हिन्दी के नाम के साथ अंग्रेजी लिखने पर भी रोक नहीं रहेगी लेकिन होटलों के नाम मुख्यत: हिन्दी में ही दिखाई देंगे। यही नहीं, शहर में लगने वाले संकेतक व सूचना पटल भी हिन्दी में ही लिखे जाएंगे। शहर में होटलों के नाम हिन्दी में लिखे जाने की पहल मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने की है। विक्रम संवत्सर 2079 पर आयोजित गौरव दिवस पर उन्होंने उज्जैनवासियों का संकल्प दिलाते हुए कहा कि यहां कि होटलों के नाम हिन्दी में लिखे जाए। मुख्यमंत्री का कहना था कि इससे स्थानीय भाषा को मजबूत करने में मदद मिलेगी। उनका मानना था कि हमारा अकादमिक विकास तब ही होगा जब हमारी भाषा समृद्ध होगी।

patrika
IMAGE CREDIT: patrika

प्रशासन के साथ बैठक में बनी आम सहमति
मुख्यमंत्री के होटल के नाम हिन्दी में लिखे जाने के संकल्प के बाद प्रशासन ने शनिवार को होटल एसोसिएशन के साथ बैठक की है। शहर के होटल संचालकों के साथ प्रशासन की बैठक में सभी संचालकों ने इस पर सहमति जताते हुए अगले एक माह में सभी साइन बोर्ड और प्रचार सामग्री पर हिन्दी भाषा का उपयोग करने की बात कही है।

आम सहमति से फैसला
मुख्यमंत्री के संकल्प के अनुसार शहर के होटलों के नाम हिन्दी में लिखे जाएंगे। इसके लिए होटल व्यवसायियों के साथ बैठक हुई है, सभी नाम साइन बोर्ड हिन्दी में किए जाएंगे। - आशीषसिंह, कलेक्टर

सभी का समर्थन
होटलों के नाम हिन्दी में नाम लिखने में एक अच्छी पहल है। उत्तर भारत में तो हिन्दी के साथ अंगे्रजी में नाम लिखते हैं। होटल व्यवसायियों को अपने प्रतिष्ठानों के नाम हिन्दी में लिखने में कोई आपत्ति नहीं है और सभी इस पहल में सहयोग करेंगे। - पंडित राजेश त्रिवेदी, अध्यक्ष, होटल-यात्रीगृह एसोसिएशन उज्जैन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Gyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, एक्सक्लूसिव रिपोर्ट सिर्फ पत्रिका के पास, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट में...Good News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तBOXER Died in Live Match: लाइव मैच में बॉक्सर ने गंवाई जान, देखें वायरल वीडियोBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर, उठाया आतंकवाद का मुद्दासीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मीIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखVirat Kohli की कप्तानी पर दिग्गज भारतीय क्रिकेटर ने उठाए सवाल, कहा-खिलाड़ियों का समर्थन नहीं किया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.