Mahakaleshwar Mandir Ujjain महाकाल में दान राशि में बड़ी हेरफेर उजागर

Ujjain Mahakaleshwar Temple Case उज्जैन Ujjain ऑनलाइन दान की प्रक्रिया पर खड़े हुए सवाल, पर्सनल एकाउंट में जा रही राशि

By: deepak deewan

Published: 11 Sep 2021, 10:34 AM IST

उज्जैन. उज्जैन (Ujjain) के महाकाल मंदिर (Mahakal Temple) में दान राशि में हेरफेर हो रहा है. दान राशि के लिए बने बैंक अकाउंट में एक बड़ी गड़बड़ी सामने आई है. इसी के साथ महाकालेश्वर मंदिर में ऑनलाइन दान की प्रक्रिया पर सवाल खड़े होने लगे हैं. गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए मंदिर प्रशासन और उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने आपत्ति जताते हुए जांच के आदेश कर दिए हैं.

दरअसल ऑनलाइन दान की प्रक्रिया में श्रद्धालुओं द्वारा महाकालेश्वर मंदिर के बैंक आकउंट में दान राशि दी जाती है पर यूपीआई की राशि मंदिर के बैंक अकाउंट में न पंहुचकर एक निजी अकाउंट में जा रही है. आरोप है कि यह करतूत महाकाल मंदिर के अकाउंट विभाग में कार्यरत एक कर्मचारी की है. उसने मंदिर समिति के QR कोड के नीचे अपना नंबर डाल दिया.

घने जंगल और गुफा में गूंजते मंत्रों के बीच होंगे दर्शन, महाकाल में अनूठा प्रयोग

Big Manipulation In Donation In Mahakal Mahakaleshwar Mandir Ujjain
IMAGE CREDIT: patrika

इससे यूपीआई (UPI) के माध्यम से किया जा रहा दान सीधा कर्मचारी के निजी खाते में जा रहा है. महाकालेश्वर मंदिर में अकाउंट का काम देख रहे विपिन रावत पर ये आरोप लगे हैं. अब तक महाकाल को दिए गए दान की कितनी राशि विपिन के पर्सनल खाते में गई है, इसका पता लगाया जा रहा है.इसके साथ ही मंदिर समिति के प्रशासक सुजान सिंह रावत को मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं.

Khajrana Ganesh Mandir Indore खजराना गणेश मंदिर में दर्शन के लिए विशेष व्यवस्था, ऐसे मिलेगी एंट्री

इस मामले में कलेक्टर आशीष सिंह का कहना है कि प्राथमिक रूप से महाकाल मंदिर के बैंक खाते के क्यूआर कोड के नीचे निजी खाते के यूपीआई से लिंक अपना मोबाइल नंबर देने का मामला सामने आया है. संज्ञान में आते ही आरोपी कर्मचारी के निजी खाते के स्टेटमेंट मंगवा लिए हैं. हालांकि एक महीने के स्टेटमेंट में कुछ गड़बड़ी नहीं मिली, लेकिन सालभर का स्टेटमेंट देखना होगा. जांच में दोषी होगा तो कार्रवाई की जाएगी.

न तन पर कपड़े, न रहने का ठिकाना पर यही अघोरी बाबा उठाते हैं महाकाल सवारी का खर्च

आरोपी कर्मचारी विपिन का कहना है कि महाकाल मंदिर के बैंक खाते के क्यूआर कोड के नीचे गलती से मेरा नंबर भी चला गया. दरअसल मुंबई से आए क्यूआर कोड में मेरा मोबाइल नंबर लिखा आया था. महाकाल मंदिर को ज्यादा से ज्यादा दान मिले इसके लिए अपने स्टेटस पर खाते का क्यूआर कोड डाला था. हालांकि बाद में हमने सभी जगह से नंबर हटा दिए थे.

Show More
deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned