scriptBJP needs such a mayor candidate in Ujjain... | उज्जैन में भाजपा को चाहिए ऐसा महापौर प्रत्याशी... | Patrika News

उज्जैन में भाजपा को चाहिए ऐसा महापौर प्रत्याशी...

कांग्रेस महापौर प्रत्याशी घोषणा के बाद भाजपा संगठन में बनने लगी नई रणनीति, भाजपा में तीन समाज से चार दावेदार कर रहे हैं महापौर टिकट की मांग

उज्जैन

Published: June 10, 2022 10:09:22 pm

उज्जैन। कांग्रेस की ओर से महापौर प्रत्याशी के रूप में विधायक महेश परमार की घोषणा के बाद भाजपा में महापौर उम्मीदवार को लेकर नए सीरे से मंथन का दौर चल पड़ा है। बैरवा समाज सेे महापौर का उम्मीवार बनाती आ रही भाजपा के सामने अब बलाई समाज भी एक विकल्प के रूप में सामने आया है। हालांकि भाजपा की ओर से प्रत्याशी को लेकर पत्ते नहीं खोले गए हैं। अंदुरुनी रूप से पार्टी उम्मीदवार को लेकर चिंतन कर रही है कि ऐसा प्रत्याशी उतारा जाए जो कांग्रेस पर न केवल भारी पड़े बल्की जनता के बीच उसकी छवि भी हो। हालांकि इन सब के बीच भाजपा में ही चर्चा है कि पार्टी ऐसे प्रत्याशी का चयन करें जो न केवल जातिगत समीकरण, लोकप्रियता और युवाओं के पैमाने पर फिट बैठता हो।
भाजपा में महापौर प्रत्याशी को लेकर चार नामों पर चर्चा हो रही है। इन चारों नामों में से एक बलाइ समाज, एक वाल्मीकि तो दो बैरवा समाज से हैं। पार्टी इसी गुणाभाग में जुटी हुई है कि किस समाज से महापौर प्रत्याशी उतारा जाए। इसके लिए विशेषकर जातिगत समीकरण के साथ इस बात को देखा जा रहा है जो कांग्रेस प्रत्याशी की काट कर सके। इसके लिए युवा के साथ लोकप्रियता का भी मापंदड रखा जा रहा है। पार्टी सूत्र बता रहे हैं कांग्रेस द्वारा नियमित विधायक को ही टिकट देकर भाजपा के लिए नई चुनैती खड़ी की है। चूंकि महेश परमार पिछले साल से महापौर पद के लिए सक्रिय हो गए थे और उज्जैन में लगातार मुद्दे उठाते भी रहे हैं। ऐसे में इसी तर्ज पर भाजपा का महापौर प्रत्याशी हो, जो जनता के बीच परिचित चेहरा हो और उसके कामों को भी देख चुकी हो। पार्टी स्तर पर जो स्थिति बन रही है, उसमें भाजपा प्रत्याशी तय करना भी टेढ़ी खीर बनता जा रहा है। ऐसे में समय रहते महापौर प्रत्याशी घोषित होने में देर भी लग सकती है।
प्रत्याशी चयन में अब संघ का दखल
शहर में महापौर प्रत्याशी को लेकर भाजपा संगठन ही नहीं संघ के दखल की भी चर्चा है। पार्टी नेता ही बता रहे हैं कि महापौर के लिए जो दावेदारी कर रहे हैं उसमें दो संघ से जुड़े हुए नेता भी है। चूंकि उज्जैन धार्मिक नगरी है और संघ का बड़ा केंद्र भी है, ऐसे मेंं यहा महापौर का पद भाजपा का होना आवश्यक है। लिहाजा महापौर प्रत्याशी चयन होने में संघ की रजामंदी भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। किसी भी विपरित स्थिति से संघ ही भाजपा को बाहर निकाल पाता है।
बैरवा समाज से हटकर टिकट दिया तो मिली हार
महापौर चुनाव में एक तथ्य यह है कि जिस किसी पार्टी ने महापौर का टिकट बैरवा समाज से हटकर किसी और समाज को दिया तो उसके प्रत्याशी को हार मिली है। वर्ष २००० में कांग्रेस ने कौरी समाज से पूर्व सांसद सत्यनारायण पंवार को महापौर प्रत्याशी बनाया था तो उस समय भाजपा के बैरवा समाज से मदलनालाल ललावत ने हरा दिया था। ऐसे ही वर्ष २००५ में जब भाजपा ने रविदास समाज से सुमित्रा चौधरी को महापौर प्रत्याशी बनाया था तो बैरवा समाज से कांग्रेस प्रत्याशी सोनी मेहर ने हरा दिया था। इसके बाद से भाजपा-कांग्रेस बैरवा समाज से ही प्रत्याशी उतारती रही है। इस बार कांग्रेस ने बदलाव कर यह संदेश देना चाहा है कि शहर में अन्य समाज का भी महापौर हो सकता है। ऐसे में भाजपा में भी यह मांग उठ रही है कि महापौर प्रत्याशी बैरवा की जगह अन्य समाज से दिया जाए।
हर नेता चाह रहा अपना महापौर
भाजपा में महापौर प्रत्याशी को लेकर पार्टी में गुटबाजी की भी चर्चा है। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव की ओर से बैरवा समाज से दो नामों को आगे बढ़ाने की चर्चा है। इसमें एक वरिष्ठ तो दूसरा युवा है। वहीं एक बैरवा समाज से दावेदार का नाम पूर्व केंद्रीय मंत्री सत्यनारायण जटिया से जोड़ा जा रहा है। वहीं विधायक पारस जैन की ओर से वाल्मीकि समाज के एक नेता को टिकट दिलाए जाने के प्रयास की चर्चा है। इधर, संघ की ओर से दो नामों की चर्चा है। जिनमें एक बैरवा समाज का पूर्व पार्षद तथा दूसरा बलाइ समाज से हैं।
इनका कहना
पार्षद और महापौर प्रत्याशी के नाम जल्द घोषित करेंगे। हमारे लिए कांग्रेस प्रत्याशी चुनौती नहीं है क्योंकि उनके पास उम्मीदवार ही नहीं है, इसलिए बाहर से प्रत्याशी लेकर आएं है। हम योग्यता, लोकप्रियता और बेहतर छवि के मापदंड पर उम्मीदवार को टिकट देेंगे।
- विवेक जोशी, नगर अध्यक्ष, भाजपा

BJP needs such a mayor candidate in Ujjain...
कांग्रेस महापौर प्रत्याशी घोषणा के बाद भाजपा संगठन में बनने लगी नई रणनीति, भाजपा में तीन समाज से चार दावेदार कर रहे हैं महापौर टिकट की मांग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

किडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?सुप्रीम कोर्ट ने 'रेवड़ी कल्चर' के खिलाफ सभी पक्षों से मांगे सुझाव, 22 अगस्त तक दिया वक्तशिवमोगा तनाव पर कर्नाटक BJP नेता केएस ईश्वरप्पा का विवादित बयान- मुस्लिम यहां शांति से रहे या पाकिस्तान चले जाएंकेरल कोर्टः यौन उत्पीड़न की शिकायत पहली नजर में नहीं टिकेगी, जब महिला ने 'यौन उत्तेजक' पोशाक पहनी होTrain Accident: महाराष्ट्र के गोंदिया में रेल हादसा, पैसेंजर ट्रेन ने मालगाड़ी को मारी टक्कर; दो यात्री घायलमहागठबंधन सरकार बनने के बाद आज पटना में नीतीश कुमार से मिलेंगे राजद सुप्रीमो लालू यादव, इन मुद्दों पर होगी बातElon Musk News : ट्विटर से डील रद्द करने वाले एलन ने अब Twitter पर ही किया एक और कंपनी खरीदने का ऐलान और फिर मारी पलटी!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.