प्रशिक्षक,प्रबंधक के लिए चरित्र सत्यापन

राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता में प्रशिक्षक और प्रबंधक तय करने से पहले चरित्र सत्यापन के करना होगा। लोक शिक्षण संचालनालय की ओर से जिला शिक्षा अधिकारियों को इसका ध्यान रखने के निर्देश दिए गए है।

उज्जैन. स्कूल शिक्षा विभाग की राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं की सुरक्षा को लेकर विभाग ने अहम निर्णय लिया गया है। लोक शिक्षण संचालनालय ने निर्देश दिए हैं कि राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता में जाने वाले प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक के दस्तावेज और चरित्र पहले अच्छी तरह से जांच लें। इसके बाद ही उन्हें प्रतियोगिताओं में शामिल होने का मौका दें। राज्यस्तरीय स्कूल खेल प्रतियोगिता का आयोजन १ अक्टूबर से प्रदेश के विभिन्न संभाग और जिला मुख्यालयों पर होगा।लोक शिक्षण संचालनालय का मानना है कि प्रशिक्षक अथवा प्रबंधकों के दस्तावेज या फिर पुलिस सत्यापन की जांच पड़ताल नहीं होने से कई बार खिलाडिय़ों को अप्रिय घटना का सामना करना पड़ता है। इसे ध्यान में रखकर लोक शिक्षण संचालनालय संचालक ने सभी संभागीय संयुक्त संचालक लोक शिक्षण, जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा कि विभाग की राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता के तहत चयनित होने वाले प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक की स्थिति और दस्तावेज का अच्छी तरह से सत्यापन कर लिया जाए। कई बार प्रतियोगिता के तहत प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक का चयन जल्दबाजी में कर लिया जाता है। बाद में पता चलता है कि प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक विवादित है या फिर कई गंभीर प्रकरणों में लिप्त है। ऐसी स्थिति नहीं बने इसके पहले प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक के दस्तावेजों की जांच पड़ताल पहले ही कर ली जाए।

जिम्मेदार व्यक्ति को ही दायित्व दें
लोक शिक्षण संचालनालय संचालक ने स्पष्ट कहा कि खिलाडिय़ों की सुरक्षा सर्वोपरि है। ऐसे व्यक्ति को प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक की जिम्मेदारी दी जाए, जो खिलाडिय़ों को ध्यान रख सके। राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता के लिए चयनित होने वाले संबंधित प्रशिक्षक अथवा प्रबंधक का पुलिस सत्यापन विभागीय जांच और महिला उत्पीडऩ से जुड़े मामलों की जांच पड़ताल अच्छी तरह से कर ली जाए।
उज्जैन में होंगी तीन प्रतियोगिता
शिक्षा विभाग के जिला क्रीड़ा अधिकारी अरविंद जोशी के अनुसार राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के पहले संभाग स्तरीय प्रतियोगिता २४ सितंबर को होगी। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए उज्जैन को तीन खेल बेसबॉल, मलखंभ, तीरंदाजी की मेजबानी मिली है। उक्त प्रतियोगिता 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर तक चलेगी। प्रतियोगिता में ९०० से अधिक खिलाड़ी और प्रशिक्षक व प्रबंधक शामिल होंगे।
इनका कहना
राज्यस्तरीय खेल प्रतियोगिता में जाने वाले कोच की जांच-पड़ताल करने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। इस संबंध में प्राचार्यों तक जानकारी पहुंचाई गई है।
- रमा नाहटे, जिला शिक्षा अधिकारी।

Shailesh Vyas Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned