इस बस स्टैंड को लोकापर्ण का इंतजार....सिंहस्थ के पूर्व बनना था, 18 माह देरी से बना

03 करोड़ के बस स्टैंड का लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री

By: Gopal Bajpai

Published: 09 Dec 2017, 05:45 PM IST

नागदा. सिंहस्थ २०१६ के मद्देनजर शहर में बनने वाला नवीन बस स्टैंड सिंहस्थ के 18 माह बाद बनकर तैयार हुआ। शहर में लगभग 3 करोड़ की लागत से नवीन बस स्टैंड तैयार तो हो गया, लेकिन इस बस स्टैंड को लोकार्पण का इंतजार है। संभावना है कि इस माह में सीएम शिवराजसिंह चौहान के हाथों नवीन बस स्टैंड का लोकार्पण हो सकता है। लोकार्पण से शहर के विकास में एक और पंख लगेगा। शुक्रवार को नपाध्यक्ष अशोक मालवीय, नपा अधिकारी शाहिद मिर्जा व अन्य अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने नवीन बस स्टैंड का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री के हाथों लोकार्पण : नवीन बस स्टैंड का लोकार्पण २० या २१ दिसंबर को होने की संभावना है। समारोह में मुख्य अतिथि सीएम शिवराजसिंह चौहान होगें।


हालांकि अभी उनके आने की अधिकारिक रुप से दिनांक तय नहीं हुई है, लेकिन यह तय है कि मुख्यमंत्री ही नवीन बस स्टैंड का लोकपर्ण करेगें। समारोह में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत भी बतौर अतिथि के रुप में शामिल होगें।

नवीन बस स्टैंड से यह मिलेगा लाभ
नवीन बस स्टैंड का निर्माण होने से इंदौर से राजस्थान व गुजरात व उदयपुर , नीमच, मंदसौर, जावरा से उज्जैन , इंदौर होते हुए महाराष्ट के शिर्डी की और जाने वाली बसों का स्टापेज भी शहर में होने लगेगा। नवीन बस स्टैंड पर मप्र राज्य परिवहन व राजस्थान राज्य परिवहन तथा कई सुपर फास्ट बस की सुविधा मिलेगी। साथ ही नवीन बस स्टैंड को मप्र राज्य परिवहन निगम के ई-पोर्टल से जोड़ा जाएगा। जिससे ई-टिकिट की सुविधा मिल सकेगी।

पुराने बस स्टैंड पर खत्म होगा ठहराव
शहर में वर्तमान में बस स्टैंड शहर के मध्य जवाहर मार्ग पर संचालित हो रहा है यह पर लगभग तीन दशक से उक्त स्थान पर बस स्टैंड संचालित हो रहा था, लेकिन धीरे-धीरे जनसंख्या व यातायात बढऩे से उक्त बस स्टैंड छोटा पडऩे लगा था। यहां पर महज 50 यात्रियों के बैठने का प्रतिक्षालय है और यहां कोई सुविधा नहीं है। न तो पीने के लिए प्याऊ है और ना ही सुविधा घर है। प्रतिक्षालय भी टीन शेड का बना हुआ है। पुराने बस स्टैंड पर महज 5 मिनट का बस स्टापेज रहेगा।

जमीन चिह्नित में हुई देरी
उज्जैन में अप्रैल २०१६ में हुए सिंहस्थ के मद्देनजर सीएम चौहान ने जिले के समस्त तहसील में बस स्टैंड के 50-50 लाख रु स्वीकृत किए थे। यह राशि वर्ष 2014 में ही नागदा नपा के खाते में आ गई थी। ताकि सिंहस्थ के पूर्व सुविधा युक्त बस स्टैंड का निर्माण हो जाए। हालांकि शहर में नवीन बस स्टैंड की मांग पिछले कई वर्षों से उठ रही थी। शहर के मास्टर प्लान में नवीन बस स्टैंड का जिक्र था, लेकिन इसके लिए जमीन चिह्नित में हुई देरी से नवीन कार्य अप्रैल 2016 में प्रारंभ हुआ जो १८ माह बाद पूर्ण हुआ।

" मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान २१ या २२ दिसंबर को शहर में नवीन बस स्टैंड का लोकापर्ण करने आ सकते है। हालांकि अभी लिखित में कोई आदेश नहीं आए है, लेकिन उनका आना तय है।
रमेश सिसौदिया, तहसीलदार, नागदा

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned