जिंदगी में अंधियारा ला देते हैं चाइनीज पटाखे 

जिंदगी में अंधियारा ला देते हैं चाइनीज पटाखे 
Chinese fire crackers is the Harms

Lalit Saxena | Publish: Sep, 30 2016 10:58:00 AM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

रोशनी और आनंद के लिए कुछ समय से चीनी आतिशबाजी का खूब उपयोग हो रहा है। घातक केमिकल्स से बने चाइनीज पटाखे सस्ते भले होते पर जिंदगी में अंधियारा फैला देते हैं।

उज्जैन. रोशनी और आनंद के लिए कुछ समय से चीनी आतिशबाजी का खूब उपयोग हो रहा है। घातक केमिकल्स से बने चाइनीज पटाखे सस्ते भले होते पर जिंदगी में अंधियारा फैला देते हैं। रोक के बाद भी इनका धड़ल्ले से व्यवसाय और इस्तेमाल होता है। चीन के पटाखोंं से बचना मुश्किल हो रहा है। सस्ते होने से ग्राहकों का रुझान भी इस ओर होता है। कुछ समय से गली-मोहल्लों में भी चोरी-छिपे चाइनीज पटाखे बेचे जाते हैं। यहीं के कुछ थोक कारोबारी चीन में बनी आतिशबाजी मंगाते हैं, वहीं भारत में बने पटाखे मंहगे जरूर होते हैं, लेकिन चाइनीज आतिशबाजी की तुलना में कम घातक रहते हैं। चीनी पटाखे हर तरह से हानि पहुंचाते हैं।

कोई रोकने वाला नहीं
चीन की आतिशबाजी के आयात, विक्रय और उपयोग पर रोक के बाद भी प्रतिवर्ष आसानी से उपलब्ध हो रही है। दिवाली पर शहर में आतिशबाजी की करीब की 550 अस्थायी दुकानें लगती है। इसमें से अधिकांश दुकानदार चीन की आतिशबाजी भी बेचने वाले हैं। इस साल भी माल की बुकिंग हो गई है, केवल खेप आने का इंतजार है। सरकारी मशीनरी की उदासीनता से यह सब चल रहा है।




Chinese fire crackers is the Harms

इसलिए आकर्षण
भारत में आतिशबाजी के निर्माण में पोटेशियम नाइटे्रट, गंधक का उपयोग किया जाता है। यह तीनों पदार्थ चीन के पटाखों में उपयोग होने वाले पोटेशियम क्लोरेट से तीन गुना मंहगा रहता है। चीन की आतिशबाजी में पोटेशियम नाइटे्रट होने से कम समय में बेहतर रोशनी तो करती है, लेकिन पोटेशियम क्लोरेट की विस्फोट क्षमता पोटेशियम नाइटे्रट से 6 गुना अधिक होती है। 




Chinese fire crackers is the Harms

चीनी आतिशबाजी खतरनाक  
" तेज धमाके हार्ट पेशेंट के लिए घातक हैं। विस्फोट से हार्ट बीट अनियमित होती है, जिससे रक्तचाप भी बढ़ जाता है।"  
- डॉ. विजय गर्ग, हृदय रोग विशेषज्ञ

" आतिशबाजी से निकलने वाली तेज रोशनी आंखों को दर्द भी दे सकती है। एकाएक तेज रोशनी से आंखों की रेटिना जलने का खतरा रहता है। इससे कम दिखने या आंखों की रोशनी भी जा सकती है। बर्फीले इलाके में धूप का तेज रिफ्लेक्शन से कई बार रेटिना जलने का खतरा रहता है,तो पटाखों की रोशनी में तो आग रहती है।"
- डॉ. अशोक चौधरी, नेत्र रोग विशेषज्ञ.

" धमाकों से कान का पर्दा फटने के साथ सुनने की नसों के क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। कान को पर्दे को तो उपचार या ऑपरेशन से ठीक किया जा सकता है। नसों का उपचार आसान नहीं होता है। धुएं की वजह से नाक-कान की एलर्जी भी होती है।"   
- डॉ. पीएन तेजनकर, नाक-कान-गला रोग विशेषज्ञ

" आतिशबाजी की आवाज और जहरीली गैस से गर्भवती और गर्भस्थ शिशु को खतरा है। इसके दुष्परिणाम बाद में सामने आते हैं। चीनी आतिशबाजी से दूर रहे, देसी वस्तुओं का उपयोग करें।"
- डॉ. जया मिश्रा, स्त्री रोग, विशेषज्ञ

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned