उद्घाटन से पहले विवादों में मध्यप्रदेश का नया स्टेशन, उर्दू में लिखा नाम पोता गया

चिंतामन स्टेशन की पट्टिका पर स्टेशन का नाम उर्दू में लिखे जाने को लेकर विवाद, विवाद के बाद पीले रंग से पोती गई उर्दू में लिखी इबारत..

By: Shailendra Sharma

Published: 04 Mar 2021, 03:13 PM IST

उज्जैन. मध्यप्रदेश के उज्जैन में बना नया रेलवे स्टेशन चिंतामन गणेश उद्घाटन से पहले ही एक विवाद के कारण सुर्खियों में आ गया है। विवाद की वजह स्टेशन की पट्टिका पर नाम उर्दू भाषा में लिखे जाने को लेकर खड़ा हुआ था जिसके बाद स्टेशन पर उर्दू में लिखे हुए नाम को पोत दिया गया है। आवाहन अखाड़े के संत महामंडलेश्वर आचार्य शेखर की आपत्ति के बाद पट्टिका पर लिखी उर्दू की इबारत को रातों रात पीले रंग से पोत दिया गया है। उर्दू की इबारत को रेलवे ने पुतवाया है या फिर किसी और ने इसे पोता है फिलहाल इसका पता नहीं चल पाया है।

 

'जिस दीवार पर उर्दू में लिखा होगा नाम, तोड़ देंगे वो दीवार'
स्टेशन का नाम उर्दू में लिखे जाने की शिकायत करने वाले आचार्य शेखर को जब इस बात की जानकारी लगी कि शिकायत के बाद उर्दू में लिखी इबारत को पीले रंग से पोत दिया गया है तो उन्होंने कहा कि ये तो अभी शुरुआत है और अब प्रदेश में आगे भी ऐसा किया जाएगा। आचार्य शेखर ने कहा कि प्रदेश में जहां पर भी हिन्दू धार्मिक स्थलों पर उर्दू का इस्तेमाल किया गया है या फिर किया जाएगा वहां उस नाम को हटाने के लिए हम मुहिम चलाएंगे और उस दीवार को ही तोड़ देंगे जिस पर उर्दू में नाम लिखा होगा।

 

नया बना है चिंतामन गणेश स्टेशन
बता दें कि उज्जैन रेलवे स्टेशन से करीब 6 किली मीटर चिंतामन गणेश स्टेशन नया बना है और अभी इसका उद्घाटन भी नहीं हुआ है। चिंतामन गणेश मंदिर उज्जैन ही नहीं बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध है और यहां पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं इसलिए चिंतामन गणेश मंदिर के पास ही बने इस स्टेशन का नाम चिंतामन गणेश रखा गया है। उज्जैन से फातियाबाद की ओर जाने वाली नैरोगेज लाइन पर ये पहला स्टेशन है।

देखें वीडियो- रतलाम में दिग्विजय ने लगाई किसान चौपाल

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned