scriptColors are prepared from flowers, Mahakal plays Holi | रंगपंचमी: खास तरह के फूलों से तैयार होता है रंग, तब होली खेलते हैं बाबा महाकाल | Patrika News

रंगपंचमी: खास तरह के फूलों से तैयार होता है रंग, तब होली खेलते हैं बाबा महाकाल

रंगपंचमी पर खास तरह के टेसू के फूलों को लाकर पुजारी-पुरोहित उन्हें बड़े-बड़े तपेलों में उबाल रहे हैं। करीब 3 क्विंटल फूल जंगलों से लाए गए हैं।

उज्जैन

Published: March 21, 2022 09:49:06 pm

उज्जैन. विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकाल के दरबार में होली और रंगपंचमी का पर्व बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। सबसे पहले हर त्योहार मनाए जाने की परंपरा के चलते होली भी सबसे पहले बाबा के आंगन में प्रज्जवलित होती है, रंग भी सबसे पहले उन्हें लगाया जाता है।

Colors are prepared from flowers, Mahakal plays Holi
रंगपंचमी पर खास तरह के टेसू के फूलों को लाकर पुजारी-पुरोहित उन्हें बड़े-बड़े तपेलों में उबाल रहे हैं। करीब 3 क्विंटल फूल जंगलों से लाए गए हैं।

तीन क्विंटल फूल मंगाए
अब रंगपंचमी पर खास तरह के टेसू के फूलों को लाकर पुजारी-पुरोहित उन्हें बड़े-बड़े तपेलों में उबाल रहे हैं। करीब 3 क्विंटल फूल जंगलों से लाए गए हैं। यह रंग तैयार किया जा रहा है। इसे रंगपंचमी के लिए तैयार किया जा रहा है। सुबह सबसे पहले बाबा महाकाल पर यह रंग डाला जाएगा। इसके बाद ही शहर में रंगपंचमी का उल्लास शुरू होगा।

पुजारी-पुरोहित खेलते हैं होली
महाकाल मंदिर में रंगपंचमी पर बाबा महाकाल को टेसू के फूलों से तैयार किए जा रहे रंग से होली खिलाई जाएगी। पुजारी दिलीप गुरु ने बताया कि हर वर्ष की तरह इस बार भी करीब ३ क्विंटल टेसू के फूल लाकर मंदिर प्रांगण में रंग तैयार किया गया। इसी से बाबा को सुबह रंग-गुलाल पिचकारी से भक्तों पर रंग डाला जाएगा। पुजारी-पुरोहित भी एक-दूसरे को रंग लगाएंगे।

शाम को निकलेगी महाकाल की गैर
होली पर्व के बाद रंगपंचमी का पर्व मंगलवार को धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। दिनभर रंगों की धमाल रहेगी, तो शाम को बाबा महाकाल के दरबार से रंगारंग झांकियों की गैर निकलेगी। होली के बाद रंगपंचमी का पर्व आज मनाया जाएगा। सुबह से ही रंग-गुलाल लेकर एक-दूसरे को रंगने के लिए धमाचौकड़ी मचेगी। दिनभर रंग-बिरंगे चेहरे होली खेलते नजर आएंगे।

गोपाल मंदिर के सामने टमाटर की होली
सुबह गोपाल मंदिर के सामने रापटरोलिया कार्यक्रम में टमाटरों से होली खेली जाएगी। देवासगेट पर कड़ाव में डुबकी और फव्वारों के साथ डीजे पर डांस होगा। कहारवाड़ी में लट्ठमार होली होगी। निकास पर पीली मिट्टी का घोल तैयार रहेगा। इस तरह शहर में अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग अंदाज में रंगपंचमी का पर्व मनाया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

Punjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाडपश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमआम आदमी पार्टी में शामिल होंगे कपिल देव! हरियाणा चुनाव से पहले AAP का बड़ा दांव, केजरीवाल संग फोटो वायरलपश्चिम बंगाल में BJP को बड़ा झटका, बैरकपुर के भाजपा सांसद अर्जुन सिंह TMC में हुए शामिलएशिया कप हॉकी: पहले ही मैच में भिड़ेंगे भारत और पाकिस्तान, ऐसा है दोनों टीमों का रिकॉर्डचार धाम यात्रा: केदारनाथ में श्रद्धालुओं ने फैलाया कचरा, वैज्ञानिक बोले - यही बनता है तबाही का कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.