महाकाल मंदिर में ऐसा क्या हुआ कि महिला कर्मचारियों ने नोंचे एक-दूसरे के बाल...पढ़ें पूरा मामला...

महाकाल मंदिर में ऐसा क्या हुआ कि महिला कर्मचारियों ने नोंचे एक-दूसरे के बाल...पढ़ें पूरा मामला...

Lalit Saxena | Publish: Mar, 14 2018 11:38:15 AM (IST) Ujjain, Madhya Pradesh, India

महाकाल मंदिर में दो महिला कर्मचारियों ने जरा सी बात को लेकर एक-दूसरे के बाल नोंचे, इतना ही नहीं वे आपस में गुत्थमगुत्था हो गई और मारपीट पर उतर आईं।

उज्जैन. महाकाल मंदिर में मंगलवार की भस्मारती के बाद शर्मनाक वाक्या हुआ। यहां भेंट राशि को लेकर मंदिर की दो महिला कर्मचारी आपस में गुत्मगुत्था होकर मारपीट पर उतर आई। दोनों ने एक-दूसरे के बाल खींचे और अभ्रद भाषा में बातचीत की। थोड़ी देर के लिए मंदिर में खलबली मच गई। वहीं भेंट राशि देने वाला श्रद्धालु घटना से शर्मसार होकर बोले कि- ऐसे कर्मचारी हैं तो हम महाकाल मंदिर नहीं आएंगे।

महिला कर्मचारियों के बीच आपसी मारपीट की घटना

महाकाल मंदिर में दो महिला कर्मचारियों के बीच आपसी मारपीट की घटना भस्मारती के बाद की है। मंगलवार सुबह उत्तर प्रदेश से आए एक श्रद्धालु ने भस्म आरती के सेवकों को भेंट राशि देना शुरू की। गर्भगृह में तैनात दो महिला कर्मचारी इसी राशि के लेनदेन को लेकर आपस में झगड़ पड़ी। स्थिति इतनी खराब हो गई कि दोनों ने एक-दूसरे के बाल पकड़कर मारपीट करना शुरू कर दिया। इस दौरान दोनों के बीच अपशब्दों का भी जमकर प्रयोग हुआ। गर्भगृह से शुरू हुआ महिला कर्मचारियोंं का विवाद मंदिर के रैंप तक चलता रहा। दोनों महिला कर्मचारियों के विवाद से अच्छा-खासा हंगामा हो गया। बाद में मंदिर में मौजूद अन्य सेवकों ने बीच-बचाव करते हुए मामले को शांत किया। इधर महिला सेवकों को भेंट राशि को लेकर इस तरह झगड़ता देख उत्तर प्रदेश के श्रद्धालु भी भौचक रह गए। श्रद्धालुओं ने कर्मचारियों के बीच ऐसे माहौल को देखते हुए फिर कभी महाकाल नहीं आने का संकल्प लिया।

मंदिर की प्रतिष्ठा फिर धूमिल
भेंट राशि को लेकर हुए विवाद से मौजूद दर्शनार्थी इस बात से चकित थे कि सरेआम श्रद्धालु से कर्मचारी रुपए लेते हैं और बंटवारे के लिए झगड़े पर उतारू हो जाते है। घटना से मंदिर की प्रतिष्ठा भी धूमिल हुई। बता दें कि पिछले दिनों पुणे आए एक भक्त से गर्भगृह में जाने के लिए तीन हजार रुपए मांग लिए थे। वहीं पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा के भी गर्भगृह में प्रवेश को लेकर कर्मचारियों के अभद्रता का आरोप लगा था। बावजूद इसके मंदिर में कर्मचारी के व्यवहार और आदतों में कोई परिर्वतन नहीं आया।

ड्यूटी को लेकर रहती है प्रतिस्पर्धा
महाकाल मंदिर में गभगृह में ड्यूटी को लेकर मंदिर कर्मचारियों में प्रतिस्पर्धा रहती है। दरअसल यहां तैनात कर्मचारी दूर-दराज से आने वाले श्रद्धालु को भगवान दर्शन व पूजापाठ के नाम पर अच्छी खासी भेंट राशि मिलती है। भस्मारती के दौरान दोनों महिला कर्मचारी के बीच मारपीट से श्रद्धालु भी चकित थे।

फुटेज देखकर कार्रवाई की जाएगी
दो महिला सेवकों के बीच विवाद की जानकारी सामने आई है नंदीगृह, गर्भग्रह और रैंप के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच कर दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई की अनुशंसा की जाएगी।
- एसपी दीक्षित, सहा. प्रशासनिक अधिकारी, महाकाल मंदिर

Ad Block is Banned